रविवार, 1 जनवरी 2012

सावधान ....फेसबुक के कारण एक तिहाई तलाक




- अरविन्द सिसोदिया 
सावधान ....
फेसबुक सामाजिक संक्रांति और सोसल नेटवर्किंग का मजबूत हथियार बन कर तो उभरा हे मगर इसकी सुविधाओं ने एक अजीब सी सामाजिक विसंगति उत्पन्न कर दी की समाजशास्त्री अचंभित हैं , की क्या किया जाये , पारिवारिक प्रतिबद्धताओं के उल्लंघन के कारण यह  पति - पत्नी के बिच अविश्वास का कारण भी  बनता जा रहा है |||   फेसबुक वालों को अपने आप पर नियंत्रण भी रखना होगा और अविश्वास से अपने आपको बचा कर रखना  होगा...
दुनिया में क तिहाई तलाक फेसबुक के कारण
http://www.bhaskar.com/article
लंदन.पूरी दुनिया में होने तलाकों में से एक तिहाई सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के कारण हो रहे हैं। एक क़ानूनी फर्म 'डाइवोर्स ऑनलाइन' के मुताबिक फेसबुक को तलाक के मामलों में सबूत के तौर पर पेश करने की संख्या में इजाफा हुआ है। 
फर्म के मुताबिक 'व्यवहार सम्बन्धी' तलाक आवेदनों में फेसबुक शब्द के इस्तेमाल में पिछले 2 सालों में 50 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है।पिछले एक साल के दौरान फर्म में दाखिल तालाक के 5000 आवेदनों में से करीब 33 फीसदी ने फेसबुक वेबसाइट का नाम जिक्र किया। 
'डाइवोर्स ऑनलाइन' के प्रबंधक मार्क कीनन ने बताया "कई लोगों के लिए फेसबुक अपने दोस्तों के साथ संवाद का मुख्य जरिया बन गया है। लोग अनजाने में अपने पूर्व साथियों को मेसेज भेजते हैं लेकिन यही बाद में मुसीबत का कारण बन जाता है। अगर कोई किसी के साथ प्रेम सम्बन्ध या फ्लर्ट करना चाहता है तो यह सबसे आसन जगह है।"
फेसबुक से होने वाली समस्याओं में सबसे आम कारण, पति या पत्नी द्वारा फ्लर्टी मेसेज का पाया जाना,साथी के पार्टी की तस्वीरें जिसके बारे में वे नहीं जानते या ऐसे किसी के साथ पाया जाना जिसके साथ उन्हें नहीं होना चाहिए। डॉसन कॉर्नवेल में कानूनी सलाह देने वाले अन्ने मारी हचिंसन कहते है "अगर आप अपने साथी से चीजें छुपाते हैं तो फेसबुक इसे खोजने में आसन बना देता है।"
कीनन ने बताया कि वे अपने मुवक्किलों को तलाक की कार्रवाई के दौरान फेसबुक से दूर रहने की सलाह देते हैं। उन्होंने कहा "लोगों को फेसबुक पर कुछ भी डालने के दौरान सावधान रहना चाहिए क्योंकि अदालतों में आजकल लोगों के फेसबुक वाल्स और पोस्टिंग को वित्तीय और बच्चों से सम्बंधित विवादों में बतौर सबूत पेश किया जा  रहा है।"
 ----
विश्व में एक तिहाई तलाक फेसबुक के कारण
http://khabar.ibnlive.in.com
लंदन। विश्व में एक तिहाई तलाक के लिए सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक जिम्मेदार है। यह दावा एक विधिक परामर्शदाता कम्पनी ने किया है। समाचार पत्र 'डेली मेल' ने 'डाइवोर्स ऑनलाइन' के हवाले से बताया कि तलाक के मामलों में फेसबुक का प्रयोग बतौर सबूत किया जा रहा है। कम्पनी ने कहा कि पिछले दो वर्षों के दौरान फेसबुक शब्द वाली तलाक याचिकाओं में 50 फीसदी इजाफा हुआ है। तलाक की 5000 याचिकाओं में कम से कम 33 फीसदी में फेसबुक के नाम का उल्लेख किया था।
'डाइवोर्स ऑनलाइन' के प्रबंध निदेशक मार्क कीनन ने कहा कि लोग अपने पूर्व मित्रों के साथ सरलता से संवाद स्थापित करते हैं लेकिन अंत समस्याप्रद होता है। यदि कोई अपने विपरीत लिंग के साथ ठिठोली करना या सम्बंध बनाना चाहता है तो यह आरामदायक स्थान है।
कीनन ने कहा कि उन्होंने अपने मुवक्किलों को तलाक की कार्यवाही के दौरान फेसबुक से दूर रहने की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि फेसबुक पर जो भी सूचनाएं लोग रखते हैं उसके प्रति सचेत रहना चाहिए क्योंकि अदालतों में लोगों के वॉल एवं पोस्ट सबूत के तौर पर पेश किए जा रहे हैं।

UP में TET परीक्षा, 87 लाख बरामद


- अरविन्द सिसोदिया 

कितना भी तुम बोलो, 
मुंह से साफ सफाई,
जर्रा जर्रा बोल रहा,
भ्रष्टाचार की काली कमाई | 
भ्रस्टाचार का हल बेहाल हे हर जगह यह मौजूद हे , 
छोटी से छोट नौकरी में या प्रतियोगीता में धन बल का ही बोलबाला हो जाता हे ,
योग्यता एक तरफ रखी रह जाती हे ..पूरी व्यवस्था धन बल की गिरिफ्त में है |
TET परीक्षा केस:--------------------------- 
पांच लोगों के साथ 87 लाख रुपए बरामदhttp://khabar.ibnlive.in.com
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में टीईटी परीक्षा में हुए घोटाले में 5 लोगों को 87 लाख रूपए के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। पकड़े गए आरोपियों ने कबूल किया कि वो ये पैसा लखनऊ में बैठे शिक्षा विभाग के कुछ बड़े अफसरों तक पहुंचाने वाले थे। आपको बता दें कि आईबीएन7 ने ही कुछ दिन पहले टीईटी परीक्षा में धांधली का खुलासा किया था।

उत्तर प्रदेश पुलिस के मुताबिक कानपुर देहात से पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से 87 लाख रूपये नगद और टीईटी परीक्षा से जुड़े तमाम अहम दस्तावेज बरामद हुए हैं। गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि टीईटी परीक्षा में रिजल्ट संशोधन के नाम पर धांधली कराई जा रही थी और इस काम में शिक्षा महकमे के कुछ बड़े अधिकारी भी शामिल थे। इन अधिकारियों को ही काम के बदले लाखों रूपए पहुंचाए जा रहे थे।

एसपी कानपुर देहात सुभाष दुबे ने बताया कि परीक्षा में उत्तर पुस्तिका बदले जाने के अलावा फेल छात्रों को पास करने और पास छात्रों को फेल करने जैसे आरोप लगे थे। इस गिरोह के तार पूरे प्रदेश से जुड़े हैं। टीईटी परीक्षा गड़बड़ी का मामला कोर्ट पहुंच चुका है। आईबीएन7 संवाददाता के मुताबिक अधिकारी ये मानने को तैयार नहीं थे कि परीक्षा में किसी तरह की धांधली हुई है। लेकिन अब पुलिस के हाथों हुई 87 लाख की बरामदगी ने धांधली की कहानी उगाजर कर दी है।

सन्नी लियोन कामक्रीड़ा अभिनेत्री { पोर्न एक्ट्रेस } 'बिग बॉस' के मालिकों का यह गिरा हुआ स्तर


- अरविन्द सिसोदिया 
भारतीय मूल की कनाडाई कामक्रीड़ा अभिनेत्री { पोर्न एक्ट्रेस } को , रियलिटी टेलीविजन शो 'बिग बॉस' से वोट कम मिलाने के कारण बहार होना पड़ा है | टेलीविजन शो 'बिग बॉस'  के मालिकों का यह गिरा हुआ स्तर ही कहा जाएगा की वे पैसा कमानें के लिए कभी पौर्न स्टार का सहारा लेते हैं तो कभी अग्निवेश का , तो कभी सुमो पहलवान को शो में शामिल करते हें ...| सामाजिक  मर्यादाओं और नैतिक्राओं को तक पर रखा कर दोनों हाथों से पैसा वसूली ही इनका एक मात्र उद्देश्य हे | तब भी सरकार इनको यह sab क्यों करने देती है ?  इन पैसों  की हवस के शिकार चेनल मलिका लोगों के इन बेसिरपैर के कार्यक्रमों को  जनता को नकार देना चाहिए ताकि स्वस्थ कार्यक्रम आयें जो पूरा परिवार साथ बैठा कर देख सके ....


http://khabar.ndtv.com
मुंबई: 
पॉर्न स्टार सन्नी लियोन इस सत्र में रियलिटी टेलीविजन शो 'बिग बॉस' से बाहर होने वाली अंतिम प्रतिभागी बन गई हैं। सन्नी को फाइनल से एक हफ्ते पहले घर से बाहर किया गया है। उनका मानना है कि लोगों ने उन्हें इसलिए वोट नहीं दिए क्योंकि उन्होंने ज्यादा ड्रामा नहीं किया।

-----------------------------
नई दिल्ली: मनोरंजन चैनल ‘कलर्स’ पर प्रसारित होने वाले रिएलिटी शो ‘बिग बॉस’ के पांचवें संस्करण से शनिवार को भारतीय मूल की कनाडाई पोर्न स्टार सनी लियोन बाहर हो गईं।
सनी को फाइनल से एक हफ्ते पहले घर से बाहर किया गया है । उनका मानना है कि लोगों ने उन्हें इसलिए वोट नहीं दिए क्योंकि उन्होंने ज्यादा ड्रामा नहीं किया ।
कार्यक्रम का फाइनल अगले सप्ताह होने वाला है। सनी को बाहर भेजने के लिए घर के अन्य सदस्यों अमर उपाध्याय, जूही परमार, महक चहल, सिद्धार्थ भारद्वाज और आकाशदीप सैगल के साथ नामित किया गया था लेकिन दर्शकों के संदेश को देखते हुए उन्हें घर से जाना पड़ा।
ज्ञात हो कि सनी इस कार्यक्रम के लिए नवंबर में घर में दाखिल हुई थीं और उन्होंने अपनी अदाओं से दर्शकों का भरपूर मनरोजंन किया। घर में रहते वक्त सनी ने अन्य सदस्यों के लिए भोजन बनाया, नृत्य किया और अनेक अनसुलझे सवाल छोड़े। (एजेंसी)

अन्ना के सेहत में सुधार


अन्ना के सेहत में सुधार
पुणे। समाजसेवी अन्ना हजारे को सीने में संक्रमण के कारण एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर है। इलाज के बाद वह बेहतर महसूस कर रहे हैं। पिछले कुछ सप्ताहों से 74 वर्षीय अन्ना की तबीयत खराब है। अन्ना के चिकित्सक के.एच. संचेती की सलाह पर उन्हें संचेती अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अन्ना के डॉक्टर संचेती ने आज सुबह अन्ना की जांच की और उन्हें कम-से-कम अगले 7 दिनों तक तक यहां रहने की सलाह दी।

ऐ मालिक तेरे बंदे हम




 ऐ मालिक तेरे बंदे हम
   ऐसे हो हमारे करम
   नेकी पर चलें
   और बदी से टलें
   ताकि हंसते हुये निकले दम

   जब ज़ुलमों का हो सामना
   तब तू ही हमें थामना
   वो बुराई करें
   हम भलाई भरें
   नहीं बदले की हो कामना
   बढ़ उठे प्यार का हर कदम
   और मिटे बैर का ये भरम
   नेकी पर चलें
 
   ये अंधेरा घना छा रहा
   तेरा इनसान घबरा रहा
   हो रहा बेखबर
   कुछ न आता नज़र
   सुख का सूरज छिपा जा रहा
   है तेरी रोशनी में वो दम
   जो अमावस को कर दे पूनम
   नेकी पर चलें
 
   बड़ा कमज़ोर है आदमी
   अभी लाखों हैं इसमें कमीं
   पर तू जो खड़ा
   है दयालू बड़ा
   तेरी कृपा से धरती थमी
   दिया तूने हमें जब जनम
   तू ही झेलेगा हम सबके ग़म
   नेकी पर चलें

अन्ना हजारे...इयर आफ 2011 रहे





इयर आफ 2011 रहे
’’’’ अन्ना हजारे’’’’
एक न्यूज चैनल ने 30 हजार एस एम एस से चुना।
अन्ना 61 प्रतिशत,नरेन्द्र मोदी 17,मायावती 10,राहुल 7 और सोनिया 5 प्रतिशत पर रहे।
अन्ना को यह स्थान इसलिये मिला कि उन्होने भ्रष्ट राजनीति पर मास्टर स्टोक किये।
समाज की शक्ति से संसद को हिला दिया। देश के दिल में बस गये।