सोमवार, 2 अप्रैल 2012

भारत की बोलिग साईड चिंताजनक हालत में




- अरविन्द सिसोदिया 

भारत की बोलिग साईड चिंताजनक हालत में हे ......बंगला देश ने भारत के २९० की चुनौती को पार कर लिया.., पाकिस्तान का पहला विकेट लेने में २२४ रन तक इंतजार करना पड़ा , अभी अभी दक्षिण अफ्रिका में बोलर ही नहीं चले ,रैना से आखिरी ओवर करवाना पड़ा जिसमें २६ रन गए ......आखिर हम इस सच को क्यों नहीं स्वीकारना चाहते की हमारे पास ४ ठीक बोलर भी नहीं हें जो प्रभावी गेंदबाजी  कर सके ...आई पी एल की खुन्नस में हरभजन सिंह  को बहार रखना भी ठीक नही .......
----------
एशिया कप: भारत-पाकिस्तान का स्कोर बोर्ड
भारत-पाकिस्तान के बीच आज रविवार को शेरे बांग्ला स्टेडियम में खेले गए एशिया कप के एक दिवसीय क्रिकेट मैच का स्कोर इस प्रकार रहा.
भारत-पाकिस्तान एक दिवसीय क्रिकेट मैच का स्कोर:-
पाकिस्तान स्कोर बोर्ड :-
 मोहम्मद हफीज पगबाधा बो डिंडा 105
 नसीर जमशेद का इरफान पठान बो अिन 112
 उमर अकमल का गंभीर बो प्रवीण 28
 यूनिस खान का रैना बो प्रवीण 52
 शाहिद अफरीदी का कोहली बो इरफान पठान 09
 हम्माद आजम का कोहली बो डिंडा 04
 मिस्बाह उल हक नाबाद 04
 उमर गुल नाबाद 00
 अतिरिक्त : 15
 कुल योग : 50 ओवर में छह विकेट पर : 329 रन
 विकेट पतन : 1-224, 2-225, 3-273, 4-313, 5-323, 6-326.
 गेंदबाजी :-
 प्रवीण 10-0-77-2
 इरफान पठान 10-0-69-1
 डिंडा 8-0-47-2
 रैना 2.2-0-15-0
 रोहित 3-0-19- 0
 यूसुफ पठान 5-0-30-0
 अश्विन 10-0-56-1
 तेंदुलकर 1.4-0-12-0
भारत :
 गौतम गंभीर पगबाधा बो हफीज 00
 सचिन तेंदुलकर का यूनिस बो अजमल 52
 विराट कोहली का हफीज बो उमर गुल 183
 रोहित शर्मा का अफरीदी बो उमर गुल 68
 सुरेश रैना नाबाद 12
 महेंद्र सिंह धोनी नाबाद 04
 अतिरिक्त : 11
 कुल : 47.5 ओवर में चार विकेट पर : 330 रन
 विकेट पतन : 1 . 0 , 2 . 133 , 3 . 305 , 4 . 318

--------------
एशिया कप: भारत ने बंगलादेश के सामने जीत के लिए रखा 290 रन का लक्ष्य
मगर यह मैच भी बंगलादेश जीता ......
Friday, 16 March 2012
मीरपुर,क्रिकेट इतिहास में आखिरकार वो दिन आ ही गया, जिसका इंतजार सचिन तेंडुलकर के प्रशंसको को पिछले एक साल से था। मीरपुर में बांग्लादेश के खिलाफ सचिन तेंडुलकर ने अपना 100वां शतक पूरा कर लिया।
11वें एशिया कप के चौथे मुकाबले में भारत ने बांग्लादेश के सामने 290 रन की चुनौती रखी है। भारत ने 5 विकेट गंवाकर  289 रन बनाए। कप्तान धोनी 21 और जडेजा 4 रन बनाकर नाबाद रहे।सचिन तेंडुलकर 114 रन बनाकर आउट हो गए। हैं।  इससे पहले सुरेश रैना 51 रन 66 रन बनाकर आउट हुए थे।
बांग्लादेश को पहली सफलता दिलाने वाले गेंदबाज शफीउल इस्लाम सचिन तेंडुलकर का चौका रोकने के प्रयास में जख्मी हो गए। माहमदुल्लाह के ओवर की पहली गेंद पर सचिन ने बैकफुट पर जाकर लेग साइड की तरफ पुल शॉट लगाया। गेंद दो टिप्पा खाकर बाउंड्री की ओर जा रही थी कि बीच में इस्लाम आ गए। वो गेंद तो नहीं रोक सके, लेकिन इस प्रयास में दाहिना कंधा चोटिल कर बैठे। उन्हें तुरंत मैदान से बाहर ले जाया गया।
सचिन तेंडुलकर ने फॉर्म में लौटने के संकेत देते हुए करियर का 96वां अर्धशतक ठोका। सचिन ने इस अर्धशतक में 7 चौके व 1 छक्का लगाया।

------------
सुरेश रैना के नाम शर्मनाक रिकॉर्ड
dainikbhaskar.com 31/03/12
खेल डेस्क.  दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एकमात्र टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में जहां एक तरफ भारतीय टीम को डकवर्थ लुइस नियम के तहत 11 रनों से हार मिली, वहीं दूसरी ओर भारतीय क्रिकेट टीम के कामचलाऊ स्पिनर सुरेश रैना ने टी-20 क्रिकेट मैच में एक नया रिकॉर्ड बना डाला।
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हुए मैच में रैना ने मैच के आखिरी ओवर में 26 रन दिए। जो भारतीय टीम में अब तक एक ओवर में सर्वाधिक रन देने का रिकॉर्ड बन चुका है।
इससे पूर्व ये रिकॉर्ड युवराज सिंह के नाम थे, जिन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ 2007 में एक ओवर में कुल 25 रन दिए थे। मैच में गेंदबाजों द्वारा की गई खराब गेंदबाजी के कारण ही दक्षिण अफ्रीका के मात्र चार ही विकेट गिरे। जिसमें से दो विकेट रैना के नाम हुए। मगर मैच के आखिरी ओवर में रैना द्वारा की गई गेंदबाजी बेहद निराशाजनक रही।
पहली गेंद पर जस्टिन ओनटोंग ने लगाया चौका। दूसरी गेंद पर जस्टिन ओनटोंग ने जड़ा छक्का। तीसरी गेंद पर जस्टिन ओनटोंग हुए बोल्ड। चौथी गेंद पर एल्बी मोर्कल ने छक्का लगाया। पांचवीं गेंद पर एल्बी मोर्कल ने लगातार दूसरे छक्के लगाए। आखरी गेंद पर एल्बी मोर्कल ने चौका लगाकर पारी की समाप्ति की।
------------------
रैना की 3 गेंदों की वजह से हारा भारत !
Dainikbhaskar.com  31/03/12
खेल डेस्क.टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्षा बाधित एकमात्र टी-20 मैच में 11 रन से हार झेलनी पड़ी। मेजबान की इस जीत के हीरो रहे 78 रन की पारी खेलने वाले कॉलिन इनग्राम। लेकिन यदि दक्षिण अफ्रीकी पारी का स्कोरकार्ड देखा जाए, तो मैच का नतीजा कुल 15 गेंदों ने तय कर दिया था। उनमें से भी सबसे घातक अंतिम ओवर की तीन गेंदें रहीं। इसके बाद बचा हुआ कबाड़ा रोबिन उथप्पा की धीमी बल्लेबाजी और बारिश ने कर दिया।

मैदान पर पहले से बादलों का साया था। इसलिए मेजबान दक्षिण अफ्रीका को जीत दर्ज करने के लिए यह जरूरी था कि वो तेजी से रन बनाए। इनग्राम और जैक कैलिस ने मिलकर तेज पारियां जरूर खेलीं, लेकिन 219 रन के टीम योग में सबसे तेज योगदान तीन बल्लेबाजों ने किया।

ये बल्लेबाज थे - ओपनर रिचर्ड लेवी, जस्टिन ओंटोंग और एल्बी मॉर्केल। आइए एक नजर डालते हैं, इस तिकड़ी ने कैसे पूरा होने से पहले ही मेजबान को जिता दिया मैच...

रिचर्ड लेवी - 7 गेंदों में 19 रन
लेवी ने दक्षिण अफ्रीका को विस्फोटक शुरुआत दी। उन्होंने मैच की पहली गेंद पर 3 रन लिए। इसके बाद उन्होंने प्रवीण कुमार के इसी ओवर में लगातार दो चौके जड़ दिए। इसके बाद इरफान पठान के अगले ओवर में उन्होंने लगातार दो चौके ठोके। महज 6 गेंदों का सामना कर लेवी ने 19 रन बना दिए। सातवीं गेंद पर इरफान ने उन्हें रोहित शर्मा के हाथों लपकवाकर आउट कर दिया। लेकिन आउट होने से पहले वो अपना काम कर चुके थे।

जस्टिन ओंटोंग - 7 गेंदों में 22 रन
अंतिम ओवरों में तेजी से रन बनाने के लिए क्रीज पर आए जस्टिन ओंटोंग ने भी 6 गेंदों में विस्फोटक बल्लेबाजी कर भारत को नुकसान पहुंचाया। ओंटोंग ने रैना के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए एक चौका और दो छक्के लगाए। इसके अलावा इरफान पठान की गेंद पर भी एक चौका जमाया। हालांकि रैना ने अंतिम ओवर की तीसरी गेंद पर उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया, लेकिन तबतक ओंटोंग मेजबान का स्कोर 200 रन के पार पहुंचा चुके थे।

एल्बी मॉर्केल - 3 गेंदों में 16 रन
भारत को सबसे ज्यादा नुकसान एल्बी मॉर्केल ने पहुंचाया। ओंटोंग के आउट होने के बाद अंतिम तीन गेंदों का सामना करने मैदान पर आए मॉर्केल ने रैना की पहली गेंद पर छक्का लगाया। अगली गेंद पर चौका और फिर आखिर में एक छक्का लगाकर उन्होंने महज 3 गेंदों पर 16 रन बना डाले।
ये 16 रन भारतीय टीम के लिए सबसे घातक रहे। इन्होंने मेजबान टीम का रन रेट 11 रन प्रति ओवर के पार कर दिया। इसका फायदा दक्षिण अफ्रीका को बारिश आने के बाद मिला।