गुरुवार, 18 अप्रैल 2013

ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां - भजन


भजन - ठुमक चलत रामचंद्र
ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां ..

किलकि किलकि उठत धाय
गिरत भूमि लटपटाय .
धाय मात गोद लेत
दशरथ की रनियां ..

अंचल रज अंग झारि
विविध भांति सो दुलारि .
तन मन धन वारि वारि
कहत मृदु बचनियां ..

विद्रुम से अरुण अधर
बोलत मुख मधुर मधुर .
सुभग नासिका में चारु
लटकत लटकनियां ..

तुलसीदास अति आनंद
देख के मुखारविंद .
रघुवर छबि के समान
रघुवर छबि बनियां ..

राम के आदर्शों का अनुकरण करें - राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी




रामनवमी संदेश में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बोले,
राम के आदर्शों का अनुकरण करें -  राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी
नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भगवान राम के जन्मदिवस के रूप में मनाए जाने वाले हिंदूओं के त्योहार रामनवमी पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी। राष्ट्रपति ने देश के नाम जारी संदेश में कहा, "राम नवमी के पावन अवसर पर मैं देश की जनता का अभिनंदन करता हूं तथा उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।"
उन्होंने कहा, "हम सभी इस अवसर पर भगवान राम की ईमानदारी, दया और धैर्य के आदर्शों का अनुकरण करने की कोशिश करें। मैं कामना करता हूं कि सदाचार के मार्ग पर चलने के लिए मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम का महान उदाहरण हमेशा हमारे लिए प्रेरणा का काम करे।" राष्ट्रपति ने कहा, "मैं यह कामना करता हूं कि उत्साह का यह पर्व हमारे देश की जनता को एक करे तथा हमारे देश का गौरवमय भविष्य लिखने के लिए प्रेरित करे।" रामनवमी का पर्व भारत में शुक्रवार को मनाया जाएगा।