शनिवार, 2 नवंबर 2013

गुजरात दंगों के लिए मोदी जिम्मेदार नहीं: केपीएस गिल



गुजरात दंगों के लिए मोदी जिम्मेदार नहीं: केपीएस गिल
http://www.jagran.com/news/national-narendra-modi-cant-be-blamed-for-post-godhra-riots-k-p-s-gill-10835366.html
नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। पंजाब पुलिस के पूर्व प्रमुख केपीएस गिल की जीवनी  'केपीएस गिल : द पैरामाउंट कॉप'  में गुजरात दंगों के लिए नरेंद्र मोदी को क्लीनचिट दी गई है। उन्होंने कहा कि इन दंगों के लिए मोदी को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। बृहस्पतिववार रात इंडिया हैबिटेट सेंटर में अपनी जीवनी के विमोचन के मौके पर केपीएस गिल ने कहा कि देश अभी भी दंगों का दंश झेलने पर मजबूर है। सभी पार्टियां एक ही ढर्रे पर चल रही हैं। केवल गिने चुने नेताओं पर ही देश को विकास की राह पर ले जाने का भरोसा किया जा सकता है।
गिल ने बताया कि पिछले कुछ महीनों से उनके परिवार के सदस्य नाराज हैं, क्योंकि इस पुस्तक में गुजरात दंगों के लिए मोदी को जिम्मेदार न ठहराकर हालात को समझने में पुलिस की बेबसी और पड़ोसी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को दोषी ठहराने की वकालत की गई है। इस पुस्तक के लेखक राहुल चंदन हैं। गिल ने खुलासा किया कि गुजरात दंगों के दौरान लालकृष्ण आडवाणी हालात काबू करने के लिए उन्हें गुजरात पुलिस प्रमुख बनाना चाहते थे, लेकिन उनकी सेवानिवृत्तिहो जाने के कारण ऐसा मुमकिन नहीं था। बाद में उन्हें मोदी का सुरक्षा सलाहकार बनाया गया। दंगों के दौरान मोदी से पहली मुलाकात का जिक्र करते हुए गिल ने कहा कि मोदी ने उनसे कहा था कि अथक प्रयासों के बाद भी वह दंगा रोकने में नाकाम हैं। उन्होंने पड़ोसी राज्यों से पुलिस फोर्स मांगी, लेकिन उन्होंने देने से इन्कार कर दिया। विपक्षी पार्टियां, मीडिया लगातार उन पर हमले किए जा रही हैं। गिल के मुताबिक मोदी ने कहा था कि उनकी पहली प्राथमिकता सभी लोगों को खुश देखना है।

पटना बम धमाके : सांत्वना मिशन पर मोदी,



सांत्वना मिशन पर मोदी, पीड़ितों के परिजनों से की मुलाकात
पटना, एजेंसी :02-11-2013
http://www.livehindustan.com/news/desh/national/article1-BJP-Narendra-Modi-Bihar-Patna-Blast-39-39-374494.html
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को पटना बम धमाके में मारे गये गौरीचक के राजनारायण सिंह के परिजनों से भेंट कर उन्हें सांत्वना दी और पार्टी की ओर से पांच लाख रुपये का चेक भी सौंपा। मोदी कोहरे के कारण अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम से करीब दो घंटे विलम्ब से हेलीकॉप्टर के जरिये गौरीचक पहुंचे और सिंह के परिजनों से मुलाकात की। मोदी ने कहा कि वह दुख की इस घड़ी में सिंह के परिजनों के साथ है। उन्होंने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना भी की।
सिंह के परिजनों ने मोदी को बताया कि उनके पिता उनका भाषण सुनने के लिये काफी उत्साहित थे और खेत का काम छोड़ कर और नदी को तैरकर गांधी मैदान गये थे। सिंह ने जाने से पूर्व कहा था कि खेती का काम तो बाद में भी हो जायेगा, लेकिन भाषण सुनने का मौका उन्हें फिर मिलेगा या नहीं। वह समय पर नहीं पहुंचेंगे तो मोदी का भाषण नहीं सुन पायेंगे।
सिंह के पुत्र ने उसे सरकारी नौकरी देने की मांग करते हुए कहा कि वह बेरोजगार है और उसके पिता ही पूरे परिवार का भरण पोषण करते थे। वहां उपस्थित बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने आश्वासन दिया कि पार्टी की ओर से पूरी मदद दी जायेगी और जो भी संभव है वह किया जायेगा।
इसके बाद मोदी जब सिंह के घर से बाहर आये तब ग्रामीणों ने मोदी के पक्ष में नारे लगाये। उत्साहित ग्रामीण देश का प्रधानमंत्री कैसा हो, नरेंद्र मोदी जैसा हो, के नारे लगा रहे थे। मोदी ने भी हाथ जोड़कर उनका अभिवादन किया। इसके बाद हेलीकॉप्टर से वह कैमूर के लिए रवाना हो गये, जहां वह बम धमाके में मारे गये विकास कुमार के परिजनों से मुलाकात करेंगे।
हेलीकॉप्टर में मोदी के साथ सुशील कुमार मोदी और नंद किशोर यादव भी थे। मोदी की सुरक्षा के लिए गौरीचक में कड़े प्रबंध किये गये थे। इस बार यहां मेटल डिटेक्टर भी लगाया गया था। गौरीचक में परिजनों से मुलाकात के समय पार्टी के राज्यसभा में उप नेता रविशंकर प्रसाद, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. सीपी ठाकुर, पूर्व मंत्री अश्विनी कुमार चौबे और डॉ. प्रेम कुमार भी मौजूद थे।
-------------------------------------
पीड़ित परिवार से मिले मोदी, 5 लाख का चेक सौंपा
आईबीएन-7 | Nov 02, 2013
http://khabar.ibnlive.in.com/news/111116/12
पटना। बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी आज बिहार दौरे पर हैं। मोदी बिहार के अलग-अलग शहरों में जाकर पटना धमाके के पीड़ितों से मिरल रहे हैं। रविवार को पटना के गांधी मैदान में रैली के दौरान धमाके में 6 लोग मारे गए थे। ये 6 लोग बिहार के अलग-अलग शहरों के हैं।
मारे गए लोगों को सांत्वना देने के लिए नरेंद्र मोदी करीब 1200 किलोमीटर की यात्रा कर
रहे हैं। मोदी कल रात को पटना पहुंचे मुलाकात का सिलसिला शुरू कर दिया। मोदी के तय कार्यक्रम में कोहरे ने अड़ंगा लगा दिया। मोदी सुबह 7 बजे ही हेलीकॉप्टर से गौरीचक के लिए रवाना होने वाले थे, लेकिन एयरपोर्ट पर छाए कोहरे की वजह से हेलीकॉप्टर नहीं उड़ पाया। इस दौरान यहां सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं।
गौरीचक पहुंचे मोदी
मोदी ने पटना बम धमाके में मारे गए गौरीचक के राजनारायण सिंह के परिजनों से भेंट कर उन्हें सांत्वना दी और पार्टी की ओर से पांच लाख रुपये का चेक भी सौंपा। मोदी कोहरे के कारण अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम से करीब दो घंटे देरी से हेलीकॉप्टर के जरिए गौरीचक पहुंचे और सिंह के परिजनो से मुलाकात की। मोदी ने कहा कि वह दु:ख की इस घड़ी में सिंह के परिजनों के साथ हैं। उन्होंने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना भी की।
राजनारायण सिंह के परिजनों ने मोदी को बताया कि उनके पिता उनका भाषण सुनने के लिए काफी उत्साहित थे और खेत का काम छोड़कर और नदी को तैरकर गांधी मैदान गए थे। सिंह ने जाने से पहले कहा था कि खेती का काम तो बाद में भी हो जायेगा, लेकिन भाषण सुनने का मौका उन्हें फिर मिलेगा या नहीं। वह समय पर नही पहुंचेंगे तो मोदी का भाषण नहीं सुन पाएंगे।
राजनारायण सिंह के परिजनों से मिलने के बाद मोदी कैमूर के लिए रवाना हो गए। यहां मोदी ब्लास्ट में मारे गए विकास कुमार के परिजनों से मुलाकात करेंगे। इसके अलावा मोदी बेगूसराय, गोपालगंज, सुपौल और नालंदा में मारे गए लोगों के घर जाएंगे।
मोदी को इस बार राज्य सरकार ने सरकारी मेहमान का दर्जा दिया है। ऐसे में उनकी सुरक्षा के लिए जबरदस्त इंतजाम किए गए हैं। हालांकि मोदी के दौरे पर जेडीयू की टेढ़ी नजर है और उसने इसे लेकर मोदी पर सवाल उठाया है। मोदी के इस सांत्वना दौरे में सुरक्षा की कोई चूक ना हो इसके लिए भारी पैमाने पर सुरक्षा प्रदान की गई है। बताया जा रहा है कि उनकी सुरक्षा एसपीजी जैसी होगी। लेकिन मोदी खुद अपनी सुरक्षा के लिए गुजरात से एक हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी लेकर आए हैं।