शनिवार, 9 नवंबर 2013

चुनाव आयोग ने लगाई एग्जिट पोल पर रोक


मीडिया का स्वरूप जब से व्यापारिक हुआ हे तब से हर निष्पक्ष बात खतरे में हो गई हे ,
इसलिए चुनाव आयोग कि कोई स्थाई नियम इस संदर्भ में बनाना चाहिए , लेकिन उसका सत्तारूढ़ दल के इसारे पर काम करना आश्चर्यजनक हे । कांग्रेस बुरी तरह हार रही हे सो रोक लगाना गलत है । आप तो रोक चुनाव कार्यक्रम की घोषणा से लगाओ , ताकी कोई प्रभाव मीडिया दल ही नही पाये ।

---------------------
चुनाव आयोग ने लगाई एग्जिट पोल पर रोक
नई दिल्ली / एजेंसी / शनिवार, 9 नवंबर 2013
चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव वाले पांच राज्यों में 4 दिसंबर तक किसी भी तरह के एग्जिट पोल के प्रकाशन और प्रसार पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। यह प्रतिबंध छत्तीसगढ़ में होने वाले मतदान के पहले चरण 11 नवंबर से लागू होगा। इसके अलावा आयोग ने इन राज्यों में मतदान के 48 घंटे पहले किसी भी तरह के ओपिनियन पोल के परिणाम के प्रकाशन पर भी रोक लगा दी है। इस संदर्भ में आयोग ने अपना आदेश छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, मिजोरम, राजस्थान और दिल्ली के मुख्य चुनाव कार्यालयों को भेज दिया है।
एग्जिट पोल पर यह रोक 11 नवंबर की सुबह 7 बजे से 4 दिसंबर की शाम 5.30 बजे तक रहेगी। 11 नवंबर को छत्तीसगढ़ में मतदान का पहला चरण जबकि 4 दिसंबर को दिल्ली और मिजोरम में आखिरी चरण का मतदान होगा। इस दौरान न्यूज चैनलों पर अपना वोट डालकर बूथ से बाहर निकल रहे मतदाताओं के इंटरव्यू के प्रसारण पर भी प्रतिबंध रहेगा।