रविवार, 15 दिसंबर 2013

सरदार पटेल की प्रतिमा निर्माण के समर्थन में 'रन फॉर यूनिटी' को मोदी ने दिखाई हरी झंडी


 सरदार पटेल की प्रतिमा निर्माण के समर्थन में 'रन फॉर यूनिटी' को मोदी ने दिखाई हरी झंडी

वडोदरा / अहमदाबाद: 'लौह पुरुष' सरदार वल्लभ भाई पटेल की 63वीं पुण्यतिथि के मौके पर रविवार को रन फॉर यूनिटी नाम से एक दौड़ का आयोजन किया गया है, जिसमें देशभर में लाखों लोग हिस्सा ले रहे हैं।

वडोदरा में नरेंद्र मोदी ने इस दौड़ को हरी झंडी दिखाई और अहमदाबाद में लालकृष्ण आडवाणी ने, जिसके बाद दो किलोमीटर की यह दौड़ देश के 565 जगहों में शुरू हुई। रन फॉर यूनिटी नाम की यह दौड़ मोदी की योजना है, जिससे सरदार पटेल की दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति बनाने का ऐलान किया गया है।

इस दौड़ के बाद देश के हजारों गांवों से लोहा और मिट्टी इकट्ठा की जाएगी और उससे गुजरात में 182 मीटर ऊंची पटेल की मूर्ति स्टेच्यू ऑफ यूनिटी का निर्माण किया जाएगा। इस मौके पर वडोदरा में मोदी ने दौड़ को हरी झंडी दिखाते हुए कहा कि आज का आयोजन देश को जोड़ने के लिए है और इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।


 -------------------
सरदार पटेल की पुण्यतिथि, मोदी ने किया रन फॉर यूनिटी का आयोजन
पी7 ब्‍यूरो/वडोदरा 15 December 2013
देशभर में आज मोदी की एकता दौड़ का आयोजन किया गया है। नरेंद्र मोदी ने वडोदरा में खुद इस मैराथन का आगाज़ किया है। वहीं अहमदाबाद में लालकृष्ण आडवाणी ने ये काम किया। 'रन फॉर यूनिटी' मोदी की महत्वाकांक्षी योजना है जिसके तहत उन्होंने सरदार पटेल की दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति बनाने का ऐलान किया है। इस दौड़ के बाद देश के हजारों गांवों से लोहा और मिट्टी इकट्ठी की जाएगी और उसका इस्तेमाल गुजरात में 182 मीटर ऊंची पटेल की मूर्ति 'स्टेच्यू ऑफ यूनिटी' के निर्माण में किया जाएगा।
बीजेपी ने रन फॉर यूनिटी को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। मैराथन की शुरुआत अबसे बस कुछ देर बाद वडोदरा से होगी। आपको बता दें कि देश के पहले गृहमंत्री सरदार बल्लभ भाई पटेल की आज 63वीं पुण्यतिथि है।
मोदी की इस ड्रीम रन में 50 लाख लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। 'रन फॉर यूनिटी का आयोजन देश में 565 सेंटर से एक साथ होगा। BJP ‘रन फॉर यूनिटी’ के जरिए  5 लाख से ज्यादा गांवों से खुद को जोड़ना चाहती है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी इस दौड़ के जरिये करीब 50 करोड़ लोगों तक मैसेज पहुंचाना चाहती है।
39 लाख से ज्यादा लोग दोड़ के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। बीजेपी ने 'रन फॉर यूनिटी को सफल बनाने के लिए सोशल मीडिया पर खूब प्रचार किया है। 443 लोकसभा क्षेत्रों में आयोजित होगी ‘रन फॉर यूनिटी’
बीजेपी के तमाम बड़े नेता ‘रन फॉर यूनिटी’ में शामिल होंगे। नरेंद्र मोदी वड़ोदरा में इस दौड़ की शुरुआत करेंगे। लालकृष्ण आडवाणी अहमदाबाद में, लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज भोपाल में मैराथन में शामिल होंगी जबकि बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह और अरुण जेटली दिल्ली में मोर्चा संभालेंगे। नितिन गडकरी नागपुर में और वेंकैया नायडू मुंबई में मैराथन में शिरकत करेंगे।
मोदी के ख्वाब पटेल स्टेच्यू के लिए दौड़ हो रही है लिहाज़ा इसमें ब्रैंड मोदी का दिखना भी लाजिमी है। आयोजन आम सियासी रैलियों से हटकर लगे इसकी पूरी कोशिश की गई है। एक जगह नौजवानों को खींचने के लिए मॉर्डन ऑर्केस्टा और संगीत तो वहीं दूसरी ओर आदिवासी रंग। ये और बात है कि पटेल के लिए हो रही दौड़ में जो पोस्टर लगाए गए हैं उनमें पटेल से ज़्यादा मोदी छाए हैं।
-------------
यूपी में 94 जगहों पर ‘रन फॉर यूनिटी’ का आयोजन
आईएएनएस | Dec 15, 2013,
लखनऊ
लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती पर रविवार को आयोजित 'रन फॉर यूनिटी' के तहत यूपी में 94 जगहों पर दौड़ का आयोजन किया गया। इसमें बीजेपी के नेता और कार्यकर्ताओं के साथ समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों ने शिरकत की।
सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय एकता ट्रस्ट के आह्वान पर देश के विभिन्न हिस्सों की तरह यूपी में भी रन फॉर यूनिटी का आयोजन किया गया। लखनऊ में दौड़ का नेतृत्व बीजेपी महासचिव मुरलीधर राव ने किया, जो सरदार पटेल प्रतिमा (हजरतगंज) से शुरू होकर शहीद पथ पर खत्म हुई। दौड़ में करीब 5 हजार लोग शामिल थे।
वरिष्ठ बीजेपी नेता ओम प्रकाश सिंह ने कहा कि समाज के हर वर्ग ने दौड़ में हिस्सा लेकर एकता के इस अभियान को पूरा समर्थन दिया। दौड़ अपने उद्देश्य में अपेक्षा से अधिक सफल रही। उन्होंने कहा कि रन फॉर यूनिटी को राजनीति से न जोड़ा जाए। ओमप्रकाश ने कहा कि अब तक विश्व में एक समय, एक साथ और एक उद्देश्य के लिए कभी इतनी बड़ी संख्या में लोग नहीं दौड़े। ये अपने आप में एक रिकॉर्ड है।
चित्रकूट, वाराणसी और अयोध्या में साधु-संतों ने दौड़ की अगुवाई की। वहीं बीजेपी के योगी आदित्यनाथ, मुख्तार अब्बास नकवी, लक्ष्मीकांत वाजपेयी और विनय कटियार ने क्रमश: गोरखपुर, गाजियाबाद, वाराणसी और कानपुर शहरों में दौड़ का नेतृत्व किया। रन फॉर युनिटी के आयोजन के बाद गुजरात में पटेल की सबसे ऊंची प्रतिमा स्थापित करने के लिए प्रदेश में लोहा एकत्र करने का अभियान शुरू होगा।