रविवार, 23 मार्च 2014

हमारा नववर्ष हमारे राष्ट्र का राष्ट्रीय गौरव है - डॉ0 प्रमोद कुमार शर्मा



नवसंवतसर पर प्रबुद्धजन विचार गोष्ठि सम्पन्न
चैत्र शुक्ला एकम् को उत्सव पूर्वक मनाने का आग्रह
हमारा नववर्ष हमारे राष्ट्र का राष्ट्रीय गौरव है - डॉ0 प्रमोद कुमार शर्मा

कोटा 23 मार्च। ”भारतीय कालगणना सबसे पुरानी एवं पूर्ण वैज्ञानिक है। यह हमारे राष्ट्र का गौरव एवं स्वाभिमान है। जिस तरह किसी राष्ट्र की पहचान उसकी संस्कृति, भूमि, इतिहास, भाषा, वेशभूषा, ध्वज, राष्ट्रगान इत्यादि से होती है, ठीक उसी प्रकार उस राष्ट्र की कालगणना (केलेण्डर ) भी राष्ट्र की पहचान होती है। हमारा संवतसर हमारे राष्ट्र की पहचान है। क्योंकि इस कालगणना से हमें अपने राष्ट्र का गौरवशाली अतीत का ज्ञान होता है। “ यह कथन मुख्यवक्ता डॉ0 प्रमोद कुमार शर्मा ने ” भारतीय नववर्ष की वैज्ञानिकता “ विषय पर ”नववर्ष उत्सव आयोजन समिति, कोटा महानगर के द्वारा आयोजित प्रबुद्धजन विचार गोष्ठि में व्यक्त किये। गोष्ठि की अध्यक्षता समिति के अध्यक्ष रामकुमार मेहता तथा विशिष्ट अतिथी समीति के मंत्री युधिष्ठर सिंह एवं संचालन सहमंत्री राजेश कुमार टेलर ने किया। धन्यवाद ज्ञापन सहमंत्री पन्नालाल शर्मा ने किया।

मुख्यवक्ता डॉ0 शर्मा ने अपने सम्बोधन में भारतीय संवत पद्यती को विभिन्न उद्ध्रणों के द्वारा सटीक वैज्ञानिकता और पुरातनता को सिद्ध करते हुये बताया कि संवतसर का उत्सव चिर पुरातन एवं नित्य नूतन के संगम का स्मरण दिलाता है। उन्हांेने कालगणना के महत्व को बताते हुये कहा ‘‘काल बोध के जागरण से, आयु बोध का जागरण होता है, जिससे विस्मृति का विनाश होकर स्मृति वापस मिलेगी, जिससे हमारा राष्ट्रीय स्वाभिमान जागृत होगा, भारत जागृत होगा और फिर से अपनी वैश्विक भूमिका का निर्वहन करेगा।“

डॉ0 शर्मा ने कहा जब चीन, जापान, इण्डोनेशिया, इजराइल, नेपाल सहित अन्य देशों ने अपनी मूल कालगणना को ही स्वीकार किया है, तो हम क्यों नहीं अपनी मूल कालगणना को स्वीकार कर सकते हैं। उन्होने कहा  हमारा नववर्ष चैत्र शुक्ल एकम् अर्थात वर्ष प्रतिपदा से प्रारम्भ होता है, इसे हम राष्ट्रीय स्वाभिमान और आत्म गौरव के रूप में मनायें। यह दिन अनेकों कारणों से पवित्र पावन होते हुये भी राष्ट्रीय स्वाभिमान और सम्मान का उत्सव दिवस है।

समिति के अध्यक्ष रामकुमार मेहता ने बताया कि ” भारतीय काल गणना की संवत पद्धति पूर्णतः वैज्ञानिक एवं सत्य है इसी कारण सम्पूर्ण ब्रम्हाण्ड के शुभ-अशुभ प्रभावों के अनुमान लगाने में यह सक्षम है। भारतीय संवत्सर अनुसंधान हमारी पृथ्वी ही नहीं, वरन् सम्पूर्ण सौर मण्डल के नवग्रहों, हमारी आकाशगंगा के 27 नक्षत्रों, आकाशीय 12 राशियों के क्षेत्रों सहित ब्रम्हाण्ड में कौन कहां गतिमान है, किस भ्रमण पथ पर हैं, किस पर कितना प्रभाव है, यह तक हमारा अध्ययन बताता है। इसी कारण से हमारे समाज जीवन का हजारों - लाखों वर्षों से यह अभिन्न अंग बना हुआ है।’’
समीति के मंत्री युधिष्ठर सिंह ने बताया कि समीति का प्रयास रहेगा कि भारतीय नववर्ष के पवित्र पावन उत्सव को समाज स्वस्फूर्त मनाये।इस  हेतू समीति प्रेरक के रूप में बहु आयामी प्रयास कर रही है।

कार्यक्रम में समिति के संरक्षक चन्द्रदेव प्रसाद, अवधेश मिश्रा, गिरिश शर्मा, राधावल्लभ शर्मा, रामचरण मेहता, बाबूलाल रैनवाल प्रचार प्रमुख अरविन्द सिसोदिया, केवलकृष्ण बांगड़, श्याम गौड़, रमेश विजय, प्रकाश पाठक, सतीश गुप्ता, मुकुट बिहारी गुप्ता, श्रीनाथ सर्राफ, छगन माहुर, हरिनारायण शुक्ला, विजय सेन, गुरमीत सिंह रंधावा, जगदीश वधवा, छुट्टन शर्मा, श्रीकिशन गुप्ता आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किये।



भवदीय
अरविन्द सिसोदिया,
समिति का प्रचार प्रमुख, 9414180151

मोदी पर हमले की साजिश : इंडियन मुजाहिदीन नाकाम



मोदी पर हमले की साजिश नाकाम
Sun, 23 Mar 2014
http://www.jagran.com/news/national-four-im-terrorist-including-wakas-arrested-11178645.html?src=NN-SHE-ART
नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल व राजस्थान पुलिस ने बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम करते हुए इंडियन मुजाहिदीन के चार आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इनके निशाने पर मुख्य रूप से भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी थे। आतंकियों ने वाराणसी में उनके नामांकन के दौरान हमले की व्यूहरचना की थी, इसके लिए वाराणसी के जिलाधिकारी कार्यालय की रेकी भी की गई थी। मोदी के अलावा आइएम के निशाने पर कांग्रेस व भाजपा के कई अन्य दिग्गज नेता भी थे। गिरफ्तार आतंकियों में आइएम सरगना यासीन भटकल के सहयोगी वकास सहित तीन अन्य शामिल हैं। इनमें से दो आतंकी इंजीनियरिंग के छात्र हैं। दिल्ली के जामिया नगर इलाके से भी कुछ इंजीनियरिंग छात्रों को हिरासत में लिया गया है।

दिल्ली के विशेष पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने बताया कि गत 22 मार्च की सुबह पाकिस्तानी नागरिक जियाउर रहमान उर्फ वकास को अजमेर स्टेशन से दबोचा गया। वह साथियों से मिलने मुंबई से ट्रेन द्वारा यहां पहुंचा था। आइएम सरगना यासीन भटकल के साथी वकास ने खुलासा किया कि राजस्थान में आतंकी गुट का नया मॉड्यूल बना है। वह लोकसभा चुनाव में आतंकी हमलों की साजिश और इसके लिए तैयार विस्फोटकों का जायजा लेने यहां आया था। वकास की निशानदेही पर रविवार तड़के जयपुर से महरूफ एवं वकार को जबकि साकिब को जोधपुर से पकड़ा गया। आतंकियों ने राजस्थान मॉड्यूल की मदद से जनसभाओं के दौरान धमाकों की सभी तैयारियां पूरी कर ली थी। उनकी साजिश वाराणसी अथवा दिल्ली में मोदी की सभा में विस्फोट करने की थी। इसके अलावा जयपुर और अजमेर दरगाह क्षेत्र में भी विस्फोट की फिराक में थे। आतंकियों के पास से 25 किलो विस्फोटक, 400 डेटोनेटर, 10 घड़ियां, साढ़े पांच सौ ग्राम बॉल बियरिंग, दो तैयार सर्किट, सौ ग्राम छोटी कील, 10 सर्किट प्लेट, बैट्री, मैग्नीशियम सल्फेट, सोडियम क्लोराइड, ट्रांजिट सर्किट साहित दो लैपटॉप, पेन ड्राइव व जेहादी दस्तावेज जब्त किए गए हैं।

स्पेशल सेल उपायुक्त संजीव यादव के अनुसार, वर्ष 2010 में नेपाल के रास्ते भारत आए वकास की दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मुंबई व हैदराबाद बम धमाकों में तलाश थी। पाकिस्तान में आतंकी गुट लश्कर-ए-तैयबा व जैश-ए-मोहम्मद के शिविरों में प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके वकास को बम बनाने में महारथ हासिल है। उस पर दस लाख रुपये का इनाम भी घोषित था। वकास पटना में नरेंद्र मोदी की रैली में विस्फोट और बोधगया धमाकों के मास्टरमाइंड तहसीन अख्तर उर्फ मोनू के साथ बड़ी आतंकी वारदात की तैयारी में था। तहसीन अभी फरार है।

मकान मालिक को नहीं हुआ शक
जयपुर से गिरफ्तार दो इंजीनियरिंग के छात्र जिस मकान में रहते थे, उसके मालिक सेवानिवृत्त शिक्षक अहमद ने बताया कि युवकों की गतिविधियां देख उन्हें कभी शक नहीं हुआ। वकार और महरूफ सुबह घर से निकल रात 10 बजे वापस आते थे। वे सुबह शाम नमाज भी पढ़ते थे।

उच्च शिक्षा प्राप्त हैं सभी आतंकी
1. जिया उर रहमान उर्फ वकास
उम्र- 25 वर्ष
पता- मुस्तफाबाद, जिला टोबा टेक सिंह, पाकिस्तान।
शिक्षा-फैसलाबाद स्थित कॉलेज से फूड टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा।
2. मुहम्मद महरूफ
उम्र- 21 वर्ष
पता- जयपुर
शिक्षा- जयपुर में जगतपुरा स्थित विवेकानंद इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग का छात्र।
3. मुहम्मद वकार अजहर उर्फ हनीफ
उम्र-21 वर्ष
पता- जयपुर
शिक्षा- जयपुर में सीतापुरा स्थित ग्लोबल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग का छात्र।
4. साकिब अंसारी उर्फ खालिद
उम्र-25
पता- जोधपुर
शिक्षा- कंप्यूटर कोर्स
पेशा- कंप्यूटर डीटीपी व डिजाइन प्रिंटिंग का काम।

आइएम के निशाने पर आइपीएल मैच भी था
मुंबई। राजस्थान में गिरफ्तार आइएम आतंकी वकास ने खुलासा किया कि वर्ष 2011 में मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया आइपीएल का मैच भी उनके निशाने पर था। इसकी रेकी के लिए वकास ने मुंबई इंडियंस व पुणे वरियर के बीच खेला गया मैच भी देखा था। लेकिन मुंबई पुलिस की सख्त सुरक्षा व्यवस्था के चलते वे कामयाब नहीं हो सके। हालांकि हमले को आगे बढ़ाते हुए 13 जुलाई को मुंबई में तीन सिलसिलेवार धमाके किए जिसमें 21 लोगों की मौत हो गई जबकि 141 लोग घायल हुए थे।

मोदी को खतरा नहीं, सुरक्षा बढ़ाई गई: शिंदेमुंबई। भारतीय जनता पार्टी की चिंताओं को दूर करते हुए गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने रविवार को कहा कि भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के जीवन को किसी तरह का कोई खतरा नहीं है और उनकी सुरक्षा को बढ़ाया गया है।

मोदी सहित भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं पर संभावित खतरे के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, भाजपा के एक शिष्टमंडल ने मुझसे मुलाकात की। मैंने बताया कि उन्हें कोई खतरा नहीं है। नरेंद्र मोदी की पटना रैली के बाद मैंने स्वयं उनकी सुरक्षा का स्तर बढ़ा दिया था। शिंदे ने कहा, मोदी को कोई खतरा नहीं है। हमने सभी तरह की सुरक्षा व्यवस्थाएं कर दी हैं। चाहें भाजपा हो या सोशलिस्ट पार्टी या बसपा या कांग्रेस। जिन लोगों के जीवन को खतरा है, उन्हें हमने सुरक्षा मुहैया कराई है। गौरतलब है कि रवि शंकर प्रसाद के नेतृत्व में भाजपा के एक शिष्टमंडल ने गत शुक्रवार को शिंदे से मुलाकात कर लोकसभा चुनाव के दौरान सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह किया था। प्रसाद ने कहा था कि कुछ अराजक तत्व चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करना चाहते हैं।