रविवार, 8 फ़रवरी 2015

सत्ता के लोभी हैं नीतीश : बिहार के मुख्यमंत्री मांझी



                        सत्ता के लोभी हैं नीतीश : बिहार के मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी

ibnkhabar.com | Feb 08, 2015

नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने पीएम से मुलाकात के बाद बिहार भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। मांझी ने कहा कि नीतीश कुमार बहुत अच्छे आदमी है लेकिन वो सत्ता के लोभी हैं, नीतीश बिना सत्ता के नहीं रह सकते। उनका असली चेहरा सबके सामने आ गया है। उन्होंने महादलित का अपमान किया।

मांझी ने कहा कि नीतीश ने मुझे रबर का स्टांप समझकर सीएम बनाया, उन्होंने सोचा जैसा वो कहेंगे मैं वैसा ही करूंगा। मैंने वैसा 2 महीने किया, लेकिन जब लोगों ने मुझे नीतीश का रबर स्टांप कहना शुरू किया तो मेरा स्वाभिमान जागा। मैंने अपनी मर्जी से जनता की भलाई के काम करने शुरू कर दिए। मैं नीतीश से सोशल वर्क में आगे निकला तो कुछ लोगों को परेशानी होने लगी।

पीएम से हुई मुलाकात पर मांझी ने कहा कि मेरी पीएम से बिहार के विकास को लेकर बात हुई। पीएम से गंगा के मुद्दे पर बात हुई। बीजेपी से समर्थन के सवाल पर मांझी ने कहा कि हमने बीजेपी से कोई समर्थन नहीं मांगा है, लेकिन जो पार्टी हमें समर्थन देगी हम उसका समर्थन लेने के लिए तैयार हैं। मांझी ने कहा कि मैं 20 तारीख को विश्वासमत साबित करूंगा।

जेडीयू से इस्तीफा देने के सवाल पर जीतन राम मांझी ने कहा कि मैं अब भी बिहार का मुख्यमंत्री मैं ही हं। जेडीयू से मेरे इस्तीफे का सवाल ही नहीं है, हमने कुछ गलत काम नहीं किया है तो हम क्यों इस्तीफा दें, इस्तीफा तो उसे देना चाहिए जो गलत काम कर रहा है।

मांझी ने कहा कि हमारे विधायकों को डराया, धमकाया जा रहा है। ताकि वो हमारा साथ छोड़ दें। हमने राज्यपाल से बात की है। हम जल्द ही अपने कैबिनेट का विस्तार करेंगे। इसमें 34 नए मंत्री बनाए जा सकते हैं। अगर जरूरत पड़ी तो दो- दो उपमुख्यमंत्री बनाए जा सकते हैं।
-----------

मांझी ने शरद-नीतीश के खिलाफ किया जंग का एलान,

हमसे पूछकर बुलाते बैठक तो ये नौबत नहीं आती

By Prabhat Khabar | Publish Date: 07 Feb 2015

नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने पीएम से मुलाकात के बाद बिहार भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। मांझी ने कहा कि नीतीश कुमार बहुत अच्छे आदमी है लेकिन वो सत्ता के लोभी हैं, नीतीश बिना सत्ता के नहीं रह सकते। उनका असली चेहरा सबके सामने आ गया है। उन्होंने महादलित का अपमान किया।

मांझी ने कहा कि नीतीश ने मुझे रबर का स्टांप समझकर सीएम बनाया, उन्होंने सोचा जैसा वो कहेंगे मैं वैसा ही करूंगा। मैंने वैसा 2 महीने किया, लेकिन जब लोगों ने मुझे नीतीश का रबर स्टांप कहना शुरू किया तो मेरा स्वाभिमान जागा। मैंने अपनी मर्जी से जनता की भलाई के काम करने शुरू कर दिए। मैं नीतीश से सोशल वर्क में आगे निकला तो कुछ लोगों को परेशानी होने लगी।

पीएम से हुई मुलाकात पर मांझी ने कहा कि मेरी पीएम से बिहार के विकास को लेकर बात हुई। पीएम से गंगा के मुद्दे पर बात हुई। बीजेपी से समर्थन के सवाल पर मांझी ने कहा कि हमने बीजेपी से कोई समर्थन नहीं मांगा है, लेकिन जो पार्टी हमें समर्थन देगी हम उसका समर्थन लेने के लिए तैयार हैं। मांझी ने कहा कि मैं 20 तारीख को विश्वासमत साबित करूंगा।

जेडीयू से इस्तीफा देने के सवाल पर जीतन राम मांझी ने कहा कि मैं अब भी बिहार का मुख्यमंत्री मैं ही हं। जेडीयू से मेरे इस्तीफे का सवाल ही नहीं है, हमने कुछ गलत काम नहीं किया है तो हम क्यों इस्तीफा दें, इस्तीफा तो उसे देना चाहिए जो गलत काम कर रहा है।

मांझी ने कहा कि हमारे विधायकों को डराया, धमकाया जा रहा है। ताकि वो हमारा साथ छोड़ दें। हमने राज्यपाल से बात की है। हम जल्द ही अपने कैबिनेट का विस्तार करेंगे। इसमें 34 नए मंत्री बनाए जा सकते हैं। अगर जरूरत पड़ी तो दो- दो उपमुख्यमंत्री बनाए जा सकते हैं।

---------

             कल सरकार बनाने का दावा करने को लेकर राज्यपाल से मिलेंगे नीतीश
By Prabhat Khabar | Publish Date: Feb 8 2015

पटना: बिहार के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने 20 मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार कर लिये जिन्होंने कल अपने त्यागपत्र सौंपे थे. राज्यपाल के जनसंपर्क अधिकारी एस के पाठक ने यह जानकारी दी. इस बीच खबर है कि कल राज्यपाल के पटना पहुंचने के बाद नीतीश कुमार स्वयं उनके सामने सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे. राजभवन सूत्रों के अनुसार नीतीश कुमार सरकार गठन का दावा करने के लिए कल दोपहर डेढ बजे राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी से मिलेंगे.

बिहार में नीतीश कुमार और जीतन राम मांझी गुट में टकराव के बीच जदयू तथा उसके सहयोगी दलों के नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज राज्यपाल के कार्यालय को समर्थन का पत्र सौंपते हुए दावा किया कि नीतीश कुमार को 130 विधायकों का समर्थन प्राप्त है.

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि उन्होंने नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार के गठन का औपचारिक रुप से दावा पेश करने के लिए कल राज्यपाल से मुलाकात का समय दिये जाने का राजभवन के अधिकारियों से अनुरोध किया. सिंह ने कहा, ‘‘नीतीश कुमार सरकार बनाने का औपचारिक रुप से दावा पेश करने के लिए खुद राज्यपाल से कल मुलाकात करेंगे.’’   राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने कोलकाता से फोन पर पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘मैं कल सुबह साढे नौ बजे पटना पहुंच रहा हूं. ’’ उन्होंने हालांकि बिहार के घटनाक्रम पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल त्रिपाठी के पास बिहार के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार है. 130 विधायकों के समर्थन के पत्र से लैश जदयू तथा उसके सहयोगी दलों के नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल दिन में करीब एक बजे राजभवन पहुंचा और नीतीश कुमार के पक्ष में विधायकों के समर्थन का पत्र सौंपा.