गुरुवार, 29 सितंबर 2016

भारत : 2,64,000 करोड़पति और 95 अरबपति : बांकी सब गरीब !



रिपोर्ट के मुताबिक, देश में कुल संपत्ति 5,600 अरब डॉलर (जून 2016 तक) आंकी गई है और कुल 2,64,000 करोड़पति और 95 अरबपति हैं।  यानी कि बांकी सब गरीब  !!!

मुंबई पहला और दिल्ली देश का दूसरा सबसे अमीर शहर: रिपोर्ट
इकनॉमिक टाइम्स| Sep 29, 2016, नई दिल्ली

भारत की वित्तीय राजधानी मुंबई देश का सबसे अमीर शहर है। एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, यहां 45,000 लोगों के पास कुल 820 अरब डॉलर की संपत्ति है, जबकि वहां 45,000 करोड़पति और 28 अरबपति हैं। न्यू वर्ल्ड वेल्थ के अनुसार, मुंबई के बाद दिल्ली और बेंगलुरु का स्थान है। लोगों के पास संपत्ति के मामले में दिल्ली भारत में दूसरा सबसे अमीर शहर है। इसके बाद बेंगलुरु है।

दिल्ली में जहां 450 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ 22,000 करोड़पति और 18 अरबपति हैं, वहीं बेंगलुरु में 320 अरब डॉलर की कुल संपत्ति के साथ 7,500 करोड़पति और 8 अरबपति हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि कुल संपत्ति से मतलब निजी संपत्ति से है, जो लोगों के पास है। रिपोर्ट में संपत्ति को किसी व्यक्ति की शुद्ध संपत्ति के रूप में परिभाषित किया गया है। इसमें उनकी सभी संपत्ति (अचल संपत्ति, नकद, इक्विटी, बिजनस इंट्रेस्ट) शामिल हैं, जिनमें से बकाए या लोन को घटाया गया है।

रिपोर्ट में सरकारी फंड को आंकड़े से अलग रखा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, देश में कुल संपत्ति 5,600 अरब डॉलर (जून 2016 तक) आंकी गई है और कुल 2,64,000 करोड़पति और 95 अरबपति हैं। देश में अन्य उभरते शहरों में सूरत, अहमदाबाद, विशाखापत्तनम, गोवा, चंडीगढ़, जयपुर और वड़ोदरा शामिल हैं।

रिपोर्ट का कहना है कि अगले दशक में भारत को लोकल फाइनैंश सर्विसेज, इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलजी, रियल एस्टेट, हेल्थकेयर और मीडिया सेक्टर की जबरदस्त ग्रोथ से फायदा मिलने की उम्मीद है। इसमें कहा गया है, 'खास तौर पर लोकल हॉस्पिटल सर्विसेज और हेल्थ इंश्योरेंस सेक्टर में शानदार ग्रोथ की उम्मीद है। संपत्ति की ग्रोथ के मामले में हैदराबाद, पुणे और बेंगलुरु के सबसे आगे रहने का अनुमान है।'

बाकी अमीर शहरों में हैदराबाद (कुल संपत्ति 310 अरब डॉलर, 8,200 करोड़पति, 7 अरबपति), कोलकाता (कुल संपत्ति 290 अरब डॉलर, 8,600 करोड़पति और 10 अरबपति), पुणे (कुल संपत्ति 180 अरब डॉलर, 3,900 करोड़पति और 5 अरबपति), चेन्नई (कुल संपत्ति 150 अरब डॉलर, 6,200 करोड़पति और 4 अरबपति) और गुड़गांव (कुल संपत्ति 110 अरब डॉलर, 3,600 करोड़पति और 2 अरबपति) शामिल हैं।

------------

टॉप टेन अमीर देशों की सूची में भारत , न्यू वर्ल्ड वेल्थ ने जारी की रिपोर्ट

नई दिल्ली, भाषा । देश की अर्थव्यवस्था अब मजबूत हो रही है इसमें कोई दोराह पर अब भारत ने एक बड़ी कामयबी हांसिल कर ली है हमने विश्व के सबसे अमीर देशों में अपनी नाम बनाने दाख़िल कर लिया है . लगता है प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का मेक इन इंडिया का सपना सच होता दिख रहा है .

दरअसल, दुनिया के सबसे अमीर देशों की फेहरिश्त में अब भारत भी शामिल हो गया है।  इतना ही नही हमने कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और इटली जैसे देशों को पछाड़ते हुए दुनिया  के टॉप टेन अमीर देशों में सातवां स्थान हासिल किया है। इसमें भारत की कुल वैयक्तिक संपदा 5,600 अरब डॉलर की है, जबकि सूची में शीर्ष स्थान पर अमेरिका है.

न्यू वर्ल्ड वेल्थ की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत का स्थान सातवां है और वह कनाडा (4,700 अरब डॉलर), आस्ट्रेलिया (4,500 अरब डॉलर) और इटली (4,400 अरब डॉलर) से पहले आता है। इन तीन देशों का स्थान सूची में क्रमश: आठवां, नौवां और 10वां है।
कुल वैयक्तिक संपत्ति रखने के संदर्भ में दुनिया में शीर्ष स्थान पर अमेरिका है। अमेरिका में यह संपत्ति 48,900 अरब डॉलर की है, जबकि दूसरे स्थान पर चीन और तीसरे स्थान पर जापान आता है जहां क्रमश: वैयक्तिक संपत्ति क्रमश: 17,400 अरब डॉलर और 15,100 अरब डॉलर की है।
--------

आतंकी शिविरों को भारी नुकसान : लेफ्टिनेंट जनरल रणवीर सिंह



पी  एम  मोदी की अध्यक्षता में सी सी एस  की  बैठक 
भारतीय सेना ने कल रात PoK में घुसकर मारे कई आतंकी, 
पाक पीएम बोले- ये ऑपरेशन बर्दाश्त नहीं 

aajtak.in [Edited By: प्रियंका झा] नई दिल्ली, 29 सितम्बर 2016
पूंछ और उरी में हुए आतंकी हमले में जवानों की शहादत का बदला भारत ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकियों को ढेर कर के लिया है. DGMO और विदेश मंत्रालय की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह खुलासा किया गया कि भारतीय फौज ने बुधवार देर रात नियंत्रण रेखा को पार करते हुए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक किया.
डीजीएमओ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि भारतीय सेना को सटीक खबर मिली थी कि पाकिस्तान के जरिए आतंकवादी भारत में घुसपैठ के लिए तैयार हैं. भारतीय सेना ने पाकिस्तान की सरजमीं में अपने सबसे बेहतरीन कमांडो भेजे थे. सूत्रों के मुताबिक भारतीय सेना ने पहली बार इस तरह के ऑपरेशन में वायुसेना की मदद नहीं ली है और भारतीय सैनिक बिना किसी खरोंच के वापस लौटे हैं.

भारत ने नाकाम की घुसपैठ की कोशिशें
डीजीएमओ ने यह बताया कि इस साल पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की 20 कोशिशें नाकाम की गई हैं. उरी और पूंछ में हुए आतंकी हमलों में पाकिस्तानी हाथ होने के कई सबूत हैं. इन हमलों में मारे गए आतंकवादियों के पास से कई ऐसे सामान मिले हैं जिनके पाकिस्तान का चिह्न बना हुआ है. इतना ही नहीं भारत ने कई बार पाकिस्तान को सबूत सौंपे हैं लेकिन कोई असर नहीं हुआ है.

आतंकियों ने कबूला PAK कनेक्शन
प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि उरी और पूंछ हमले में मारे गए आतंकियों के डीएनए सैंपल से पता लगा है कि वे पाकिस्तानी हैं. भारत ये सैंपल पाकिस्तान को देने के लिए भी तैयार है. आतंकियों ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग मिलने की बात भी कबूल ली है. यह भी घोषणा की गई है कि भारतीय सेना किसी भी हालात के लिए तैयार है.


राष्ट्रपति, विपक्ष को दी गई जानकारी
खबरों के मुताबिक भारतीय सेना ने राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल और मुख्यमंत्री को भी सर्जिकल स्ट्राइक की पूरी जानकारी दी है.

नवाज शरीफ ने निंदा की
पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकियों को मार गिराने के कदम की नवाज शरीफ ने निंदा की है. PAK मीडिया के मुताबिक पीएम नवाज शरीफ ने कहा 'हम इस हमले की निंदा करते हैं, शांति के लिए हम जो प्रयास कर रहे हैं, उसे हमारी कमजोरी न समझा जाए.'
--------------


पाकिस्तान के खिलाफ भारत का बड़ा एक्शन, LoC पार भारतीय सेना ने किया सर्जिकल स्ट्राइक, कई आतंकी मारे गए
Last Updated: Thursday, September 29, 2016 
( एजेंसी इनपुट के साथ )
ज़ी मीडिया ब्‍यूरो 

नई दिल्ली: नई दिल्ली: भारत ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार स्थित आतंकी शिविरों पर सर्जिकल हमले किए जिनमें आतंकवादियों को भारी नुकसान पहुंचा है और अनेक आतंकवादी मारे गए हैं । सेना द्वारा आतंकवादियों को निशाना बनाने के लिए अचानक की गई इस कार्रवाई के बारे में घोषणा सैन्य अभियान महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल रणवीर सिंह ने आनन-फानन में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में की। संवाददाता सम्मेलन में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप भी मौजूद थे ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्जिकल हमलों के बारे में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को सूचित किया । जम्मू कश्मीर के राज्यपाल और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को भी सूचना दी गयी।

जनरल सिंह ने कहा कि भारत ने सर्जिकल हमलों के बारे में जानकारी पाकिस्तानी सेना के साथ साझा की। कार्रवाई इस ‘अत्यंत विशिष्ट सूचना’ के बाद की गई कि आतंकवादी नियंत्रण रेखा के पास डेरा डाल रहे हैं । सर्जिकल हमलों की अवधि या यह किस समय किए गए और किस स्थान पर किए गए , इस बारे में जानकारी तत्काल साझा नहीं की गई है । सिंह ने कहा,‘‘भारतीय सेना ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार आतंकी लांच पैडों पर सर्जिकल हमले किए ।’ उन्होंने यह भी कहा कि भारत किसी भी तरह की स्थिति के लिए तैयार है । जनरल सिंह ने कहा कि आतंकी शिविरों को भारी नुकसान पहुंचा है और अनेक आतंकी मारे गए हैं । फिलहाल आगे और अभियान चलाने की योजना नहीं है ।

सूत्रों ने बताया कि सर्जिकल हमलों में कम से कम दो आतंकी शिविरों पर हमला किया गया । जनरल सिंह ने कहा, ‘हम नियंत्रण रेखा के पार आतंकवादियों को सक्रिय रहने की अनुमति नहीं दे सकते।’ उन्होंने कहा कि आतंकवादियों को मार गिराने के लिए चलाया गया अभियान समाप्त हो गया है तथा ‘फिलहाल आगे किसी और अभियान की योजना नहीं है’ लेकिन साथ में यह भी कहा कि सशस्त्र बल आतंकवादियों को जम्मू कश्मीर या भारत के किसी भी बड़े शहर पर कोई हमला करने की अनुमति नहीं दे सकते । सिंह ने कहा कि हमले ‘अत्यंत विशिष्ट और विश्वसनीय’ खुफिया सूचना मिलने के बाद किए गए कि आतंकवादियों को जम्मू कश्मीर और भारत के कुछ बड़े शहरों में हमले करने के लिए घुसपैठ कराई जा रही है ।

डीजीएमओ ने प्रेस कॉन्प्रेंस में कहा कि इस साल पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की 20 कोशिशें नाकाम की गई हैं। उरी और पूंछ में हुए आतंकी हमलों में पाकिस्तानी हाथ होने के कई सबूत हैं। इन हमलों में मारे गए आतंकवादियों के पास से कई ऐसे सामान मिले हैं जिनके पाकिस्तान का चिह्न बना हुआ है। भारत ने कई बार पाकिस्तान को सबूत सौंपे हैं लेकिन कोई असर नहीं हुआ है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि उरी और पूंछ हमले में मारे गए आतंकियों के डीएनए सैंपल से पता लगा है कि वे पाकिस्तानी हैं। भारत ये सैंपल पाकिस्तान को देने के लिए भी तैयार है। आतंकियों ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग मिलने की बात भी कबूल ली है।

-----------------

सर्जिकल ऑपरेशन से गरमाए नवाज शरीफ,
कहा -हमारी शांति की इच्छा को कमजोरी न समझा जाए
नई दिल्ली: भारतीय सेना द्वारा LOC पर पर आतंकी गुटों के लॉन्च पैड पर सर्जिकल ऑपरेशन करने पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि हम इस हमले की निंदा करते हैं, शांति की हमारी इच्छा को हमारी कमज़ोरी न समझा जाए. हम अपने देश की रक्षा करने को तैयार हैं. पाक मीडिया के हवाले से यह जानकारी एएनआई ने दी.

एएनआई के मुताबिक नवाज शरीफ ने कहा, “मैं भारतीय सेना के अकारण और खुलेआम आक्रामक रवैये की निंदा करता हूं, जिसमें एलओसी पर पाकिस्तान के दो जवान शहीद हो गए.”

गौरतलब है कि विदेश और रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को जम्मू एवं कश्मीर में पाकिस्तान की ओर से किए जा रहे संघर्षविराम उल्लंघन को लेकर संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने बताया, सेना ने सीमा पार से ज्यादातर घुसपैठ नाकाम की. उन्होंने कहा, कल रात (बुधवार रात) हमने एलओसी पर आतंकी गुटों के लॉन्च पैड पर सर्जिकल ऑपरेशन किया. उन्होंने कहा कि लगातार हो रही घुसपैठ चिंता का विषय है.

सर्जिकल हमले में हमने कई आतंकियों को मार गिराया. हमले से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल और सीएम महबूबा मुफ्ती को भी इस बाबत जानकारी दी गई थी.
source : ndtv