शुक्रवार, 28 अक्तूबर 2016

चीन बॉर्डर पर जवानों के साथ दिवाली मनाएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी


चीन बॉर्डर पर ITBP जवानों के साथ दिवाली मनाएंगे पीएम मोदी
भगवान बद्रीनाथ के दर्शन करेंगे


Narendra Modi ✔ @narendramodi
This Diwali, let us remember our courageous armed forces who constantly protect our Nation. Jai Hind.
6:53 PM - 22 Oct 2016



http://www.punjabkesari.in

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बार दिवाली भारत चीन बॉर्डर पर तैनात आइटीबीपी के जवानों के साथ मनाएंगे। प्रधानमंत्री शनिवार को उत्तराखंड के चमोली जिले में सीमावर्ती गांव में जवानों के साथ दिवाली मनाएंगे।

प्रधानमंत्री 29 अक्टूबर को सुबह दिल्ली से वायुसेना के खास विमान से और एमआई 17 हेलीकॉप्टर से गौचर पहुंचेंग। पीएम के साथ एनएसए अजित डोभाल भी होंगे। पीएम मोदी सबसे पहले सुबह भगवान बद्रीनाथ के दर्शन करेंगे। विशेष पूजा अर्चना के बाद पीएम बद्रीनाथ से आगे माणा में मौजूद आईटीबीपी और सेना के जवानों के साथ दिवाली मनाएंगे। पीएम मोदी सरहद पर जवानों के साथ चाय नाश्ता भी करेंगें। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी अपनी पिछली दो दिवाली भी सरहद पर जवानों के साथ मना चुके हैं।

-------------

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बार भी दिवाली जवानों के साथ मनाने वाले हैं. भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों के साथ दिवाली मनाने के पीएम कल सुबह दिल्ली से भारत-चीन बॉर्डर के लिए रवाना हो जाएंगे. एनएसए अजीत डोभाल भी मोदी के साथ रहेंगे.

मोदी माणा गांव का दौरा भी करेंगे, साथ ही साथ बद्रीनाथ के दर्शन भी करेंगे. इससे पहले भी मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद से पिछली दो दिवाली भी सरहद पर जवानों के साथ ही मनाई है. बता दें कि मोदी ने दिवाली पर सेना के लिए संदेश भेजने की अपील भी की थी, जिसके बाद आम लोगों से लेकर सिनेमा जगत के सितारों ने भी जवानों को शुभकामनाएं भेजी है.



चीनी सामानों के बहिष्कार से : चीन बौखलाया



चीनी सामानों के बहिष्कार पर चीन ने दी नसीहत
Posted on: October 28, 2016
http://khabar.ibnlive.com

नई दिल्ली। दीवाली पर चीनी सामान के बहिष्कार के लिए कुछ हलकों से किए जा रहे आह्वान के बीच चीन ने कहा है कि इससे चीन की इकाइयों का भारत में निवेश और दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग प्रभावित हो सकता है। नई दिल्ली में चीन के दूतावास की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस तरह के किसी बहिष्कार का उसके देश के निर्यात पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा, उल्टा इसका सबसे ज्यादा नुकसान भारत के व्यापारियों और ग्राहकों का होगा क्योंकि उनके पास कोई समुचित विकल्प नहीं है।

चीन ने कहा है कि वह दुनिया का सबसे बड़ा व्यापारिक देश है और 2015 में उसका निर्यात 2276.5 अरब डॉलर के बराबर था और भारत को किया गया निर्यात इसका मात्र दो प्रतिशत था। गौरतलब है कि भारत सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर ऐसे किसी बहिष्कार की बात नहीं है।

लेकिन खुदरा व्यापारियों के संगठन कैट (कॉन्फिडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स) ने हाल में कहा था कि दीवाली पर चीनी वस्तुओं के आयात में इस साल 30 प्रतिशत तक गिरावट आ सकती है। भारत-पाकिस्तान के बीच मौजूदा तनाव और इसमें चीन के पाकिस्तान की तरफ झुकाव के बीच भारत में विभिन्न हलकों से चीनी सामान के बहिष्कार की बात उठी है। चीन अपनी सस्ती वस्तुओं के साथ विश्व बाजार में बड़ा स्थान बना चुका है।
------------

भारत में चीनी सामानों के बहिष्कार से बौखलाया चीन!

By: एबीपी न्यूज़ |  Friday, 28 October 2016
http://abpnews.abplive.in

नई दिल्ली: आज धनतेरस का त्यौहार है और दीवाली को अब सिर्फ 2 ही दिन बचे हैं. अमूमन इस दौरान हर साल बाजार में रौनक छाई रहती है. लेकिन इस बार हालात कुछ अलग हैं, पाकिस्तान की ओर से लगातार हो रही आतंकवादी गतिविधियों पर चीन का पाकिस्तान को इस तरह खुला समर्थन भारत में चीनी सामानों पर भारी पड़ रहा है.

उरी हमले के बाद चीन ने मसूद अजहर जैसे आतंकवादियों का खुलकर समर्थन किया था, जिसके बाद से ही देश भर में लोग चीनी सामानों का बहिष्कार कर रहे हैं. यह शायद पहली बार है जब भारत में चीनी बाजार ठंडा पड़ा हुआ है. लोग चीनी सामान खरीदने से बच रहे हैं.

भारत में चीनी सामान के बहिष्कार के बाद चीन इतने गुस्से में आ गया है कि उसने भारत को धमकी तक दे डाली है. चीनी दूतावास ने बयान जारी करते हुए कहा, ‘चीन दुनिया का सबसे बड़ा निर्यातक देश है. भारत में कुल निर्यात का 2 फीसद हिस्सा ही जाता है. इसलिए भारतीय बहिष्कार का अधिक असर नहीं होगा. चीन केवल इस बात को लेकर चिंतित है कि इससे चीनी इकाइयों की ओर से भारत में होने वाले निवेश पर बुरा असर पड़ेगा. साथ ही दोनों देशों के रिश्ते भी प्रभावित होंगे.’

गौरतलब है कि पिछले 1 महीने से पूरे देश में चीन के सामान का बहिष्कार करने की मुहिम छिड़ी हुई है, लोग सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक पर प्रदर्शन कर रहे हैं और साथ ही बाकी लोगों से भी चीनी सामान का इस्तेमाल न करने की अपील कर रहे हैं. दूसरी तरफ इस विरोध से उन कुम्हारों को फायदा हो रहा है जिनकी रोजी-रोटी चीनी सामानों के चलते छिन गई थी.

महाराष्ट्र के जलगांव में व्यापारियों ने चीनी सामान की बिक्री नहीं करने का फैसला किया है. यहां दीवाली के मौके पर चीनी सामान का कारोबार लगभग 70 करोड रुपए का होता रहा है, लेकिन नुकसान की परवाह न करते हुए लोगों ने इस बार त्योहारों पर लोगों ने चीनी सामानों का बहिष्कार करने का फैसला किया है.
--------------------



एक के बदले दागे 10 मोर्टार दागे : बीएसएफ



हमारा पड़ोसी प्रॉक्सी वॉर लड़ रहा है,
असली वीर वे होते हैं जो सीने का बटन खोलकर आंख में आंख डालकर लड़ते हैं: राजनाथ
dainikbhaskar.com | Oct 28, 2016
http://www.bhaskar.com
नोएडा.राजनाथ सिंह ने कहा है, 'पाकिस्तान प्रॉक्सी वॉर छेड़े हुए है। असली वीर वो होते हैं जो सीने का बटन खोलकर आंख में आंख डालकर लड़ते हैं।' राजनाथ नोएडा में इंडो-तिब्‍बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) की रेजिंग डे परेड के प्रोग्राम में शामिल हुए थे। बता दें कि गुरुवार शाम से रातभर एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से काफी गोलाबारी की गई। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाक 57 बार सीजफायर वॉयलेशन कर चुका है। आईटीबीपी के होते हुए दुनिया का कोई भी देश अटैक करने का नहीं सोच सकता...
- राजनाथ सिंह ने आगे कहा, 'हमारा पड़ोसी देश आतंकवाद का सहारा ले रहा है, प्रॉक्‍सी वॉर कर रहा है।'
- उन्होंने कहा, 'आईटीबीपी के होते हुए कोई देश हमारे देश पर अटैक करने के बारे में सोच भी नहीं सकता।'
- 'लेकिन असली वीर वो नहीं होते, जो प्रॉक्‍सी वॉर करते हैं। असली वीर वो हैं, जो सीने का बटन खोलकर आंख में आंख डालकर लड़ते हैं।'
- 'आईटीबीपी की वजह से सीमा उल्‍लंघन में 7% की कमी आई है।'
राजनाथ बोले थे- करारा जवाब दो
- 27 अक्टूबर की रात एलओसी पर पाक की तरफ से जमकर गोलीबारी हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजनाथ ने बीएसएफ के डीजी से बात की थी और पाक को करारा जवाब देने को कहा था।
- शुक्रवार सुबह डिफेंस पीआरओ मनीष मेहता ने कहा, 'गुरुवार रात से शुक्रवार सुबह तक की तरफ से भारी हथियारों से गोलीबारी हुई। हमने भी उन्हें करारा जवाब दिया। हमारी तरफ से किसी जान-माल का नुकसान नहीं हुआ। शुक्रवार सुबह पाक की तरफ से फिर सीजफायर वॉयलेशन किया गया।'
किन चौकियों को बनाया निशाना
- LoC की तंगधार, मेंढर, आरएस पुरा, अरनिया, अखनूर और सांबा में भारतीय चौकियों को बनाया निशाना बनाकर गोलीबारी की।
BSF को ऑर्डर, एक मोर्टार के बदले दागे 10 मोर्टार
- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीएसएफ से कहा गया है कि पाकिस्तान से हो रही फायरिंग का 10 गुना ताकत से जवाब दिया जाए। पाक की तरफ से एक मोर्टार आने पर बदले में 10 मोर्टार दागे जाएं।
- एलओसी पार पाकिस्तान के कब्जे वाले गांवों में कई एम्बुलेंस देखी गई। बीएसएफ की जवाबी कार्रवाई में कई मकानों में आग लगने की खबर।

मसूद अजहर आतंकी : पूर्व राष्ट्रपति जनरल मुशर्रफ



पाकिस्तान सरकार भले ही जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को आतंकी मानने में हिचकिचा रही हो, लेकिन उसके पूर्व राष्ट्रपति परवेश मुशर्रफ इस सच्चाई को स्वीकार करते हैं।

पूर्व राष्ट्रपति जनरल मुशर्रफ ने उगला सच, बोले- मसूद अजहर आतंकी है
Publish Date:Fri, 28 Oct 2016

नई दिल्ली, प्रेट्र : पाकिस्तान सरकार भले ही जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को आतंकी मानने में हिचकिचा रही हो, लेकिन उसके पूर्व राष्ट्रपति परवेश मुशर्रफ इस सच्चाई को स्वीकार करते हैं। उनकी नजर में मसूद अजहर एक आतंकवादी है और पाकिस्तान में होने वाले बम धमाकों के लिए जिम्मेदार है।

हालांकि गुरुवार को एक समाचार चैनल से बातचीत के दौरान उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि पाकिस्तान आखिरकार चीन से मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के लिए क्यों नहीं कह रहा है? चीन ने हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में उस प्रस्ताव का विरोध किया था, जिसमें भारत ने मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने की मांग की है।

मुशर्रफ ने कहा, 'इसमें चीन को क्यों शामिल होना चाहिए, जबकि इसका उससे कोई लेना-देना नहीं है।'

वैश्विक मंच पर पाकिस्तान के अलग-थलग पड़ने के लिए मुशर्रफ ने नवाज शरीफ को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, पाकिस्तान एक मजबूत देश है। उसे भारत की तरह देखा जाना चाहिए। भारत को 'बड़े भाई' की तरह बर्ताव करने से बचना चाहिए।

पाकिस्तान के लिए निर्वाचित सरकार और सेना के विकल्प पूछने पर मुशर्रफ ने सैन्य शासन का समर्थन किया। उन्होंने कहा, सेना के शासनकाल में पाकिस्तान की अधिक तरक्की हुई। नई दिल्ली में पाकिस्तानी जासूस की गिरफ्तारी पर वह बोले, 'मुझे इस बारे में विशेष जानकारी नहीं है, लेकिन अगर ऐसा है तो इसे बढ़ावा नहीं दिया जाना चाहिए।'

गुलाम कश्मीर में आतंकी शिविरों के बारे उन्होंने अनभिज्ञता जाहिर की। कहा, 'मुझे नहीं पता।' फिर कुटिल मुस्कान के साथ कहा, 'जब मैं इनकी गिनती कर लूंगा, तब सही जवाब दे पाऊंगा।'

बलूचिस्तान, सिंध और गुलाम कश्मीर में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बारे में पूछने पर उन्होंने कश्मीर और बुरहान वानी का जिक्र कर मुद्दे को भटकाने की कोशिश की।

धनतेरस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी देशवासियों को शुभकामनाएं





धनतेरस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी देशवासियों को शुभकामनाएं
Publish Date:Fri, 28 Oct 2016

नई दिल्ली, एएनआई।
दीपोत्सव का पंच पर्व आज से धनतेरस के साथ शुरू हो गया है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को धनतरेस की शुभकामनाएं दी हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्विटर के माध्यम से शुभकामना संदेश दिया है।
Narendra Modi ✔ @narendramodi
धनतेरस के पावन अवसर पर सभी देशवासियों को शुभकामनाएं। 
Greetings on the auspicious occasion of Dhanteras.