बुधवार, 23 नवंबर 2016

मोदी ऐप पर सर्वेक्षण में 93 प्रतिशत लोगों ने नोटबंदी का समर्थन किया




मोदी ऐप पर सर्वेक्षण में 93 प्रतिशत लोगों ने विमुद्रीकरण का समर्थन किया..
sanjeevnitoday.com | Wednesday, November 23, 2016 |

नई दिल्ली। नरेन्द्र मोदी ऐप पर एक सर्वेक्षण में हिस्सा लेने वाले पांच लाख लोगों में से 93 प्रतिशत से अधिक ने विमुद्रीकरण का समर्थन किया है। प्रधानमंत्री द्वारा इस मुद्दे पर जनता की प्रतिक्रिया मांगे जाने के एक दिन बाद पीएमओ ने आज यह जानकारी दी।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस सर्वेक्षण के नतीजों के साथ ट्वीट कर कहा, ‘‘ मैं इस सर्वेक्षण में ऐतिहासिक भागीदारी के लिए लोगों को धन्यवाद देता हूं। गहन विचारों और टिप्पणियों को पढ़ना संतोषजनक है।’’ प्रधानमंत्री ने अपने ट्विटर एकाउंट पर अपने लेख का लिंक साझा करते हुए कहा, ‘‘ ऐप सर्वेक्षण को अप्रत्याशित प्रतिक्रिया मिली. रिकार्ड संख्या में लोगों ने अपने विचार साझा किए।’’ इस सर्वेक्षण का परिणाम आईटी एवं दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज शाम मंत्रिमंडल की बैठक में पढ़ा जिस पर प्रधानमंत्री ने कहा कि इससे ‘‘लोगों का मूड पता चलता है।’’
इस सर्वेक्षण के महज 24 घंटों में पांच लाख से अधिक लोगों ने भागीदारी की और अपने विचार रखे। ‘‘ यह किसी भी लिहाज से काफी बड़ी संख्या है। भारत में ऐसी नीति या राजनीतिक मुद्दों पर कोई जनमत सर्वेक्षण नहीं किया गया।’’ इस सर्वेक्षण में महज दो प्रतिशत लोगों ने सरकार की विमुद्रीकरण की पहल को ‘बहुत खराब’ करार दिया।

नोटबंदी : गरीबों और आम लोगों को काफी फायदा होगा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी



नरेन्द्र मोदी मतदाता की सुने  !
लोकसभा और राज्यसभा में अधिकांश करोडपति अरबपति हैं।  राजनेता ही भ्रष्टाचार और कालेधन का मुख्य कारण हे। चोर दरवाजे से आतंकवाद , उग्रवाद और नक्सवाद की मदद करने वाला क्षैत्र भी राजनीति है। देशहित करना है तो इन्हे नजर अंदाज करना होगा, आगे जनता इन्हे सबक सिखायेगी। प्रधानमंत्री सीधे आम जनता की सुनें । कालेधन वाले करोडपतियों को इग्नोर करें।


- अरविन्द सिसोदिया , कोटा,राजस्थान


---------------------------------------------------
नोटबंदी: पीएम बोले-लड़ाई की शुरुआत है, अंत नहीं
पीटीआई | Updated: Nov 22, 2016

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी को ब्लैक मनी के खिलाफ लड़ाई में उठाया गया बड़ा कदम बताया है। मोदी ने सोमवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक में कहा कि नोटबंदी ब्लैक मनी के खिलाफ लड़ाई में उठाया गया लंबी और बड़ी कार्रवाई है। इससे गरीबों और आम लोगों को काफी फायदा होगा। पीएम ने कहा कि यह ब्लैक मनी के खिलाफ लड़ाई की शुरुआत है, अंत नहीं।

शीत कालीन सत्र के दौरान पहली बीजेपी संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ब्लैक मनी, नकली करंसी और भ्रष्टाचार के कारण गरीब, और मध्यम वर्ग के लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी हुई है। पीएम ने कहा कि उनकी सरकार देश को ऐसे दानवों से मुक्त कराने का प्रयास कर रही है।

बैठक में बीजेपी ने नोटबंदी का सर्वसम्मति से समर्थन करने वाला प्रस्ताव पास कर दिया। प्रस्ताव में विपक्षी पार्टियों पर हमला भी किया गया। प्रस्ताव में विपक्षी दलों से पूछा गया कि नोटबंदी पर वे आम जनता और सरकार के साथ हैं या फिर ब्लैक मनी रखने वाले लोगों के साथ?।

नोटबंदी : किसानों के लिए राहत

सहकारी बैंकों के जरिए किसानों को फंड देगी सरकार,
वित्त सचिव ने दी राहत के अन्य कदमों की भी जानकारी
नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: Nov 23, 2016
नई दिल्ली
नोटबंदी से रबी फसलों की खेती में पैदा हुई परेशानी के मद्देनजर केंद्र सरकार ने कई कदम उठाए हैं। बुधवार को वित्त मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने किसानों को राहत दिए जाने वाले विभिन्न कदमों की जानकारी दी। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दास ने बताया कि सरकार ने अब किसानों को फंड देने के लिए ये कदम उठाए हैं। आइए डालते हैं सरकार के राहत भरे उन कदमों पर एक नजर जिनकी घोषणा पिछले 24 घंटों में की गई है...

किसानों के लिए राहत
नाबार्ड के जरिए किसानों को फंडिंग की व्यवस्था होगी
सहकारी बैंकों को कैश दिया जाएगा
जिला सहकारी बैंकों को 21,000 करोड़ रुपये दिए जाएंगे

वित्त सचिव ने कहा कि डाकघरों में 500 और 2,000 रुपये के नोट पहुंचा दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि कैश ट्रांजैक्शन की जगह डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कई कदम उठाए हैं। उन्होंने डिजिटल लेनदेन को लेकर इन सरकारी पहलों की जानकारी दी...
अभी डेबिट कार्ड्स पर सर्विस चार्ज नहीं लगेंगे
रुपे कार्ड का स्विचिंग चार्ज पूरी तरह खत्म
31 दिसंबर तक फोन से पेमेंट पर चार्ज नहीं
पेटीएम जैसे ई-वॉलिट के जरिए खर्च की सीमा दोगुनी कर दी है
अब ई-वॉलिट्स में 10 हजार की 20 हजार रुपये तक जमा कर सकेंगे
31 दिसंबर तक ऑनलाइन टिकट पर सर्विस चार्ज नहीं
सरकार या सरकारी एजेंसियों द्वारा किसी भी प्राइवेट यूनिट को डिजिटल पेमेंट ही होंगे

प्रेस कॉन्फ्रेंस में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के बारे में ये जानकारियां दी गईं...
यूपीआई को 20 बैंक लागू कर रहे हैं
कोई भी बैंकिंग कस्टमर अपना ऐप्लिकेशन डाउनलोड करें
ईमेल की तरह एक फाइनैंशल आईडी होगा
इससे पैसे भेजने के साथ-साथ पैसे मांग भी सकते हैं
अब सिर्फ एक एसएमएस के जरिए पैसे मांगेंगे
इसमें पैसे का तुरंत ट्रांजैक्शन होगा
हरेक बैंक का अपना-अपना यूपीआई ऐप है

अन्य राहतें
अब बिग बाजार के स्टोर से 2,000 रुपये तक निकाल सकते हैं
शादी के लिए 2.5 लाख रुपये की निकासी की शर्त में ढील। 10 हजार रुपये से ज्यादा के पेमेंट पर ही डेक्लरेशन देना होगा
सेविंग्स बैंक कस्टमर्स को 30 दिसंबर तक एटीएम चार्ज नहीं देना होगा। मतलब, अब आप दूसरे बैंक एटीएम से अब कितनी बार भी कैश निकालें, कोई चार्ज नहीं लगेगा

ट्रम्प ने मीडिया को अनफेयर और बेईमान कहा





रिपोर्ट के मुताबिक, सोमवार को प्राइवेट मीटिंग के दौरान ट्रम्प नाराज नहीं हुए। उन्होंने शांत और सलीके वाले अंदाज में अपनी बात कही। वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, पूरी मीटिंग के दौरान 70 साल के ट्रम्प ने कई बार मीडिया को अनफेयर और बेईमान कहा।


ट्रम्प ने मीडिया को खुद बुलाया और खरी-खरी सुनाई: कहा- आप लोग झूठे और बेईमान
dainikbhaskar.com | Nov 22, 2016

वॉशिंगटन. यूएस के प्रेसिडेंट-इलेक्ट डोनाल्ड ट्रम्प ने मीडिया को खुद बुलाया और इसके बाद उसे फटकार लगाई। ट्रम्प ने मीडिया को झूठा और बेईमान तक कह दिया। अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, इलेक्शन के बाद बेहतर रिश्ते बनाने के बजाय ट्रम्प मीडिया जंग के मूड में नजर आ रहे हैं। बहुत शांत अंदाज में फटकार...
- रिपोर्ट के मुताबिक, सोमवार को प्राइवेट मीटिंग के दौरान ट्रम्प नाराज नहीं हुए। उन्होंने शांत और सलीके वाले अंदाज में अपनी बात कही। उन्होंने कहा- "टीवी चैनल्स अपने दर्शकों को फेयर और एक्युरेट कवरेज देने में नाकाम रहे हैं।" ट्रम्प ने ये भी कहा कि मीडिया उन्हें समझने में नाकाम रहा और अमेरिकी नागरिकों तक उनकी अपील पहुंचाने में भी उसे कामयाबी नहीं मिली।
- वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, पूरी मीटिंग के दौरान 70 साल के ट्रम्प ने कई बार मीडिया को अनफेयर और बेईमान कहा। इस मीटिंग में अमेरिका के तमाम न्यूज चैनल्स के मशहूर एंकर और मालिक मौजूद थे।
- इनमें एबीसी न्यूज के एंकर जॉर्ज स्टीफनपोल्सो, डेविड मुईर, सीएनएन के वोल्फ बिल्ट्जर और एरिन बर्नेट, सीएनएन के वर्ल्ड वाइड चेयरमैन जेफ टकर, एनबीसी न्यूज के प्रेसिडेंट डेब्रो टर्नर के अलावा मीडिया की और भी मशहूर हस्तियां थीं।
- बताया जाता है कि ट्रम्प जल्द ही ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ रिपोर्टर और एग्जीक्यूटिव्स से मुलाकात करेंगे।
सीएनएन चीफ से कहा- नफरत है आपके नेटवर्क से
- रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रम्प सीएनएन नेटवर्क से खासतौर पर नाराज थे। नेटवर्क चीफ जेफ जुकर से उन्होंने कहा- "मैं आपके नेटवर्क से नफरत करता हूं। वहां सभी झूठे हैं और आपको इस बात पर शर्म आनी चाहिए।"
- एक सोर्स ने कहा- "ये मीटिंग भयानक थी। अब इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ये सोच रहा है कि क्या उन्हें ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन में खबरों के लिए एंट्री भी मिल पाएगी। कुल मिलाकर यहां कुछ भी ठीक नहीं हुआ और जो हुआ, वो ट्रम्प की स्टाइल में हुआ।"
- ट्रम्प ने कहा- "मुझे ऐसा लगता है कि हम एक एेसे कमरे में बैठे हैं, जहां सब झूठे और इरादतन बेईमान हैं।"
- हालांकि, ट्रम्प के कैंपेनिंग चेयरमैन कैलिनी कोनवे ने इस तरह की खबरों को गलत बताया है। कोनवे ने कहा- "मैं तो उनके बगल में बैठा था। उन्होंने कभी गुस्सा नहीं किया। यह ऑफ द रिकॉर्ड मीटिंग थी। हर कोई इसे अपने तरीके से बताने की कोशिश कर रहा है।"

ट्रांस पैसिफिक पार्टनरशिप समझौते से हटेगा अमेरिका
- ट्रम्प ने कहा है कि पोस्ट संभालने के बाद वो पहले ही दिन ट्रांस पैसिफिक पार्टनरशिप (टीपीपी) बिजनेस ट्रीटी से अमेरिका को बाहर निकाल लेंगे।
- एक वीडियाे मैसेज में प्रेसिडेंट इलेक्ट ने कहा- "अगले साल 20 जनवरी को वह ऑफिस संभालेंगे और उसी दिन अमेरिका ट्रांस पैसिफिक पार्टनरशिप कारोबारी समझौते से अलग हो जाएगा।" ट्रम्प ने कहा कि वो इंडस्ट्रीज और नौकरियां बढ़ाने पर जोर देने जा रहे हैं।
- टीपीपी पर अक्टूबर 2008 में अमेरिका सहित दुनिया के 12 देशों ने दस्तखत किए थे। इसमें अमेरिका और जापान जैसी दो बड़ी ताकत हैं। इन 12 देशों का दुनिया के कुल कारोबार में 40% हिस्सा है।