सोमवार, 19 दिसंबर 2016

प्रधानमंत्री मोदी : आज छोटे लोग और छोटे नोट का महत्व बढ़ गया है





कानपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कानपुर में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि यूपी के लोग गुंडागर्दी से तंग आ चुके हैं। उन्होंने जनता से कहा कि जब तक लखनऊ में सरकार नहीं बदलेगी, कुछ नहीं बदलेगा। उन्होंने कहा कि जनता इसके लिए संकल्प ले चुकी है।

पीएम ने कहा कि पूरे देश में अनेक कार्यक्रमों को आज लांच किया गया है। देश और दुनिया में आने वाले दिनों में जिनके पास युवा धन है। युवा शक्ति है, वह अपनी ताकत दिखा सकता है। अपना अस्तित्व दिखा सकता है। पीएम ने कहा कि भारत सौभाग्यशाली है कि भारत के पास 35 से कम आयु की संख्या 35 फीसदी से ज्यादा है। जो देश नौोजवान हो, जिस देश के पास नौजवान युवा हो, वह देश अपनी ताकत का परिचय करवा सकता है, पर यह तब हो सकता है, जब युवाओं के पास स्किल हो।

मोदी ने कहा कि गैस पाइपलाइन का भी लोकार्पण किया। बिजली के लिए सबस्टेशन का भी लोकार्पण किया। यह प्रोजेक्ट ऊर्जा के प्रोजेक्ट है। ये प्रोजेक्ट भी आर्थिक बदलाव लाने में भूमिका निभाते हैं।

पीएम ने कहा कि यह यूपी का गौरव है कि यूपी ने देश को स्थिर सरकार देने में बड़ा योगदान दिया है। 30 साल तक देश में स्थिर सरकार नहीं थी। समझौते से गाड़ी चल रही थी। निर्णय नहीं होते थे। एक को संभालो, तो दूसरा नाराज, दूसरे को समझाओ, तो तीसरा नाराज। देश को संभालने के लिए उनके पास समय नहीं था।


उन्होंने कहा कि एकतरफ हम देश को भ्रष्टाचार से मुक्त कराने की लड़ाई लड़ रहे हैं, पर उनका एजेंडा है संसद बंद हो। राष्ट्रपति के कहने के बाद भी हो-हल्ला करते रहे। ये ऐसा इसलिए कर रहे थे, क्योंकि वे चर्चा से भाग रहे थे। उन्होंने कहा कि म्यूनसिपलिटी में भी चुने गए लोग ऐसा करने से पहले सोचते।

पीएम ने कहा कि भ्रष्टाचार व कालेधन से देश को मुक्त कराना है। इस लड़ाई में सिपाही बनकर देश के उज्जवल भविष्य के लिए काम करें। पीएम ने कहा कि जिन्होंने गरीबों को लूटा है, वे आज परेशानियां झेल रहे हैं। गरीबों के घरों के बाहर कतार लगाकर खड़े थे।

पीएम ने कहा कि जब 1000-500 के नोट थे, तो 100 के नोट को कोई पूछता नहीं था। आज छोटे लोग भी पूछे जा रहे हैं, छोटे नोट का महत्व भी बढ़ गया। पीएम ने कहा कि मैं कांग्रेसवालों को याद कराना चाहता हूं कि वे बेशर्मी के साथ बोलते थे कि खुद कांग्रेस के लोग बोलते थे कि न खाता, न बही, जो केसरी कहे, वही सही। ये उनके हिसाब-किताब के तरीके थे। खुद के फायदे में जो हो, वह करते रहना। इसका परिणाम है कि देश तबाह हो गया है।

आजादी के 70 साल बाद यूपी में इतनी सरकारें आती गई, इतने पीएम बने, पर 1500-1600 गांव ऐसे थे जहां 21वीं सदी में भी बिजली का तार नहीं पहुंचा। मेरे यूपी के 1600 गांवों का क्या दोष है। पीएम ने कहा कि मैंने लाल किले से आह्वान किया था कि मैं एक हजार दिन में इन गांवों में बिजली पहुंचा दूंगा। इन 1600 गांवों में 70-72 गांव बच गए हैं। बाकी में बिजली पहुंच गई है।

पीएम ने कहा कि हम देश के किसानों को ताकत देना चाहते हैं। पीएम ने कहा कि दिल्ली वाले जो दूध पीते थे, उन्हें पता भी नहीं चलता था कि यह भैंस-गाय वाला दूध है या यूरिया से बना वाला दूध। हमने यह दूध पीने वाले बच्चों की जान बचा ली।

पीएम ने नोटबंदी पर बोलते हुए कहा कि कुछ लोगों को लगता था कि बैंक में पैसे डाल दिए, तो सफेद हो गए, पर सरकार को कम मत आंकिए। अब सीसीटीवी खंगाले जा रहे हैं। दनादन पैसे पकड़े जा रहे हैं। मैं जानता हूं कि इनकी ताकत कितनी है। ये लोग बैंक के अफसरों को खरीद सकते हैं। ये कुछ भी कर सकते हैं पर यह लड़ाई देश के गरीबों की लड़ाई है और सरकार यह लड़ाई जीत कर रहेगी।

पीएम ने कहा कि लोगों को क्या कुछ सहना पड़ा है, इसका मुझे पूरा अंदाजा है। मेरे देशवासियों ने जो कुछ भी सहा है, वह देश के उज्जवल भविष्य के लिए सहा है। मेरे देशवासियों, आपने जो कष्ट झेला है, वह अपने स्वार्थ के लिए नहीं झेला है। देश के लिए झेला है। आपको निराश होने का अवसर नहीं आएगा।

पीएम ने कहा कि मैंने पहले भी कहा है कि 50 दिनों के बाद यह कठिनाइयां बढ़ नहीं पाएगी। कठिनाइयां कम होने की शुरुआत हो जाएगी।

पीएम ने कहा कि यही लोग कहते थे कि राजीव गांधी ने मोबाइल फोन दिया और अब मैं कह रहा हूं कि मोबाइल फोन बैंक बनेगा, तो ये कहते हैं कि मोबाइल फोन है ही नहीं। पीएम ने कहा कि सरकार ने देश के लिए एक बहुत अच्छी योजना बनाई है। यह योजना आप घर-घर पहुंचाएंगे। भारत सरकार ने मोबाइल बैंक, डिजिटल करेंसी के लिए  एक बड़ी योजना बनाई है। योजना यह है कि 8 नवबंर तक अब तक अगर आपने अपने डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से खरीदी की होगी, तो उसका एक विशिष्ट नंबर जेनरेट होता है। इन सारे नंबरों का 25 तारीख को ड्रा निकलेगा और 15 हजार लोगों के खाते में सरकार की तरफ से एक हजार रुपए जमा हो जाएंगे। यह काम हर दिन होने वाला है। अगले 100 दिनों तक चलने वाला है। 100 दिनों में 15 लाख परिवारों में एक-एक हजार रुपए पहुंच जाएंगे।

पीएम ने कहा कि इसके बाद 14 अप्रैल को बाबा साहेब के जन्मदिवस पर बंपर ड्रा होगा, उन्हें करोड़ों-करोड़ों रुपए का इनाम दिया जाएगा। पीएम ने कहा कि दुकानदारों के लिए भी ईनाम है।

इंद्रेश कुमार : बलिदानियों की वजह से सुरक्षा, स्वतंत्रता और विकास




देशवासियों को सुरक्षा, स्वतंत्रता, विकास की गारंटी, बलिदानियों की वजह से 

– इंद्रेश कुमार 


फरीदाबाद, हरियाणा (विसंकें). 1971 के भारत-पाक युद्ध में भारतीय सेना की अद्भुत विजय और पराक्रम को याद करते हुए सर्व इंडिया फाउंडेशन ने नगर निगम सभागार में एक शाम वीर सैनिकों के नाम ‘विजय की हुंकार’ कार्यक्रम आयोजित किया. केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एवं पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की. महाभारत सीरियल में भगवान कृष्ण की भूमिका निभाने वाले नीतिश भारद्वाज, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार जी भी विशेष रूप से उपस्थित रहे. मुख्य अतिथियों द्वारा भारत माता की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन से कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ. विधिवत उद्घाटन के बाद डिजिटल प्रस्तुति के माध्यम से महाभारत काल से लेकर बौद्व, 1857 का स्वातंत्र्य समर, आजादी का आंदोलन, 1965, 1967, 1971 और कारगिल युद्ध को बेहतरीन तरीके से दिखाया गया.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार जी ने कहा कि 2017 में 1857 की जनक्रांति के 160 साल हो रहे हैं. देशवासियों को सुरक्षा, स्वतंत्रता, विकास की गारंटी, बलिदानियों की वजह से ही मिली है और उन सैनिकों की वजह से जो बॉर्डर पर तैनात होकर देश की सुरक्षा कर रहे हैं. ऐसे सब बलिदानियों को प्रणाम किया जाना चाहिए. जनता से आह्वान किया कि वे वीर सैनिकों की याद में घर पर तिरंगा फहराएं, जन-मण-गण गाएं, वंदेमातरम गाएं और भारत माता की जय का नारा बुलंद करें.

पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह ने कहा कि 16 दिसंबर 1971 को विपरीत परिस्थितियों में भी भारतीय सैनिकों ने नया इतिहास रचा था. सैनिकों के अदम्य साहस के कारण पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों को आत्मसमर्पण करने पर मजबूर कर दिया. इस युद्ध में भारत के सैनिकों ने साबित कर दिया कि उनमें अतुलनीय शौर्य है. इस ऐतिहासिक जीत को समाज के निचले स्तर तक मनाना जरूरी है ताकि हर पीढ़ी भारतीय सैनिकों के शौर्य का अभिनंदन कर सके.

महाभारत में भगवान श्रीकृष्ण की भूमिका निभाकर दर्शकों का दिल जीतने वाले नीतिश भारद्वाज ने देश की वर्तमान परिस्थिति को पौराणिक महाभारत के साथ जोड़ा और कहा कि अच्छे कर्म करने से ही देश आगे बढ़ सकता है. कार्यक्रम में आए लोगों ने एक दीप जलाकर शहीद सैनिकों को याद किया. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत कार्यवाह देवप्रसाद भारद्वाज जी, पुलिस आयुक्त डॉ. हनीफ कुरैशी जी, सर्व इंडिया फाउंडेशन के महासचिव दीप भाटिया जी सहित अन्य गणमान्यजन उपस्थित थे.