बुधवार, 20 सितंबर 2017

नरेंद्र मोदी की आज भारत को जरूरत है : रतन टाटा






आज भारत को है नरेंद्र मोदी की जरूरत: रतन टाटा

News18Hindi
Updated: September 20, 2017, 6:59

टाटा संस के चेयरमैन एमिरेटस रतन टाटा ने नेटवर्क 18 समूह के बिजनेस चैनल सीएनबीसी टीवी18 के साथ एक खास इंटरव्‍यू में कहा कि आज भारत को नरेंद्र मोदी की जरूरत है. मोदी ने न्यू इंडिया के लिए एक विजन क्रिएट किया है और नए भारत के निर्माण के लिए वे सभी तरह के इनोवेटिव कदम उठा रहे हैं. टाटा ने कहा कि लोगों को राजनीतिक पूर्वाग्रह से ऊपर उठकर देश के निर्माण के लिए काम करना चाहिए.

देश निर्माण में युवा दें सहयोग
टाटा ने कहा कि लोग भले ही मोदी से असहमत हो सकते हैं, लेकिन मेरा मानना है कि अगर भारत को इस समय किसी चीज की जरूरत है तो वह है- नरेंद्र मोदी. नए भारत के निर्माण के लिए सभी को मोदी के विजन के साथ होना चाहिए. उन्होंने उम्मीद जताई कि देश के युवा नए भारत के निर्माण में उनकी मदद करेंगे.

समूह की अधिकांश कमाई परोपकार से जुड़े कार्यों पर खर्च होती है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि मैं नरेंद्र मोदी को गुजरात के मुख्यमंत्री के समय से जानता हूं. पश्चिम बंगाल के सिंगुर से फैक्ट्री को गुजरात ले जाने के क्रम में उन्होंने हमारी जिस तरह से मदद की, वह मैं नहीं भूल सकता हूं. मोदी ने हमें गुजरात बुलाया और महज तीन दिनों में वादा के अनुसार फैक्ट्री के लिए जरूरी जमीन दे दी. सरकारी स्तर पर इस तरह का निर्णय भारत में नहीं लिया जाता है.

आने वाले 10 साल में होंगे बड़े बदलाव
रतन टाटा ने कहा कि टाटा ग्रुप चंद्रा के रूप में बेहद योग्य हाथों में है. वैसे बिजनेस में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं. ग्रुप ने घाटे में चल रही कई कंपनियों को खरीदा और आगे भी हम ऐसा करते रहेंगे. आने वाले 10 साल में शायद यह ग्रुप कुछ अलग दिखेगा. हम नए बिजनेस में उतरेंगे, नई कंपनियां बनाएंगे, हालांकि अपने मूल्यों से कभी समझौता नहीं करेंगे.

नैतिक मूल्यों से बची है कंपनी
टाटा ने कहा कि कंपनी 150 साल पूरे करने जा रही है. ऐसा नैतिक मूल्यों के कारण ही संभव हुआ है. अक्सर इतने लंबे समय में कंपनियां बिखर जाती है. टाटा ग्रुप को बचाने और आगे बढ़ाने के लिए हम कुछ भी करेंगे. अगले 30-50 साल में कुछ बदलाव आ सकते हैं. नैतिक मूल्य हमेशा बरकरार रहने की उम्मीद है. ग्रुप की ज्यादातर कमाई परोपकार पर खर्च होती है. संस्थापकों और नेताओं की जेब में नहीं कुछ नहीं जाता. ऐसा करना बेहद संतोषजनक है.

सिंगुर में हुआ था भारी विरोध
गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल के सिंगुर में टाटा की नैनो फैक्ट्री के विरोध में ममता बनर्जी की पार्टी की अगुवाई में हुए हिंसात्मक आंदोलन के बाद कंपनी को अपनी फैक्टरी के लिए जल्‍द कोई जमीन चाहिए थी.

नए भारत का निर्माण कर रहे हैं मोदी
टाटा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नए भारत का निर्माण कर रहे हैं. इसके लिए उनमें जरूरी योग्यता और प्रतिबद्धता है और वे देश को नया स्वरूप देने के लिए इनोवेटिव पहल कर रहे हैं. हमें उनका सहयोग करना चाहिए. टाटा ने कहा कि उन्हें मोदी के नेतृत्व में पूरी आस्‍था है.

तेजी से फैसला लेते हैं मोदी
टाटा ने दिल खोलकर चैनल के साथ बातचीत की. उन्होंने टाटा ग्रुप, इकोनॉमी और राजनीति से जुड़े सभी मुद्दों पर अपने मन की बात रखी. इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी की जमकर तारीफ की और कहा कि उन्हें मोदी से बहुत उम्मीदें हैं. मोदी तेजी से फैसला लेना जानते हैं.